अमरीका: बड़ी कटौतियों से जूझ रही है अर्थव्यवस्था, बजट को लेकर शुरू हुआ गतिरोध का नया दौर

|

Updated: 16 Jun 2019, 12:54 PM IST

  • एक बार फिर आमने-सामने हैं ट्रंप प्रशासन और डेमोक्रेट्स
  • संघीय बजट को लेकर अब तक किसी निष्कर्ष पर नहीं पहुंची सरकार
  • अक्टूबर के बाद अमरीका में नए शटडाउन का खतरा

वाशिंगटन। अमरीका में कैपिटल हिल पर राष्ट्रपति ट्रंप के कार्यवाहक मिक मुलवेनी और ट्रेजरी सचिव स्टीवन मेनुचिन की व्यस्तता इन दिनों काफी बढ़ गई है। सीनेट के रिपब्लिकन सदस्य और ट्रम्प प्रशासन इस समय महत्वपूर्ण, बजट और खर्च के मुद्दों पर एक समझौते पर पहुंचने के लिए संघर्ष कर रहे हैं। इस बीच अमरीकी अर्थव्यवस्था के सामने न केवल एक और सरकारी शटडाउन और खर्च में गहरी कटौती का संकट है बल्कि छोटी सी संघीय चूक से अर्थव्यवस्था को कड़ी चोट पहुंचने का खतरा भी पैदा हो गया है।

डोनाल्ड ट्रंप की धमकी, सालों तक चल सकती है सरकारी कामबंदी

गतिरोध का नया दौर

जीओपी के नेताओं ने राष्ट्रपति ट्रम्प के साथ बजट सौदे पर सहमत होने के लिए महीनों बिताए हैं। लेकिन अभी तक यह बजट एक सपना बना हुआ है। जीओपी नेताओं का मानना है कि यह बजट सरकार को वित्तपोषित करेगा और अर्थव्यवस्था में गिरावट के चलते संघीय उधारी की सीमा बढ़ाएगा, लेकिन उनके प्रयासों से अभी तक सरकार प्रभावित नहीं दिख रही है। बीते दिनों प्रमुख सीनेट रिपब्लिकन मेजरिटी लीडर मिच मैककोनेल ने नेतृत्व में एक बजट बैठक आयोजित की गई लेकिन इसे भुनाने में ट्रम्प प्रशासन चूक गया। सबसे बड़ी गलती यह हुई कि हाउस के वरिष्ठ अधिकारियों ने इस बैठक में डेमोक्रेटस को नहीं बुलाया। शायद ट्रम्प प्रशासन भी यह भूल गया कि उनके वोट अनिवार्य होंगे।

शटडाउन से बचने के लिए और संघीय ऋण सीमा से इकोनॉमी को झटकों से बचाने के लिए डेमोक्रेट्स का साथ आना बहुत जरूरी है। सीनेट विनियोजन अध्यक्ष रिचर्ड सी ने कहा, "हम अभी खुद से ही बातचीत कर रहे हैं। राष्ट्रपति और प्रशासन के पास अभी कुछ विचार हैं। हो सकता है कि सीनेट रिपब्लिकन की तुलना में हम कुछ अलग हों। इसलिए हम यह देखने की कोशिश कर रहे हैं कि क्या हम एक साथ सबसे बेहतर साबित हो सकते हैं।"

अमरीका में खत्म हुई सरकारी कामबंदी, ट्रंप को नहीं मिला मेक्सिको वॉल के लिए पैसा

क्या बजट पर बन सकेगी सहमति?

अमरीकी सदन में जीओपी की शिथिलता डेमोक्रेटिक बहुमत वाले सदन में ट्रम्प के लिए नई मुश्किलें खड़ी कर रहा है। माना जा रहा है कि डेमोक्रेट्स अहम मुद्दों पर सरकार की राह रोक सकते हैं। लम्बे समय तक रिपब्लिकन नेताओं ने कांग्रेस के दोनों सदनों को नियंत्रित किया है, लेकिन अब ट्रंप की आव्रजन प्राथमिकताओं के वित्तपोषण को लेकर डेमोक्रेट्स के साथ मेल-जोल की संभावना करीब-करीब खत्म हो गई है। इस समय ट्रम्प और कांग्रेस मुश्किल बजट मुद्दों की तिकड़ी चुनौतियों का सामना करते हैं।

अब जो भी बजट बनेगा, उसे कांग्रेस को पास करना चाहिए और ट्रम्प को हस्ताक्षर करना चाहिए। अगर नए शटडाऊन से बचना है तो 1 अक्टूबर तक सरकार का कानूनी वित्तपोषण करना होगा। नवीनतम अनुमानों के अनुसार अमरीकी सदन को संघीय ऋण सीमा को उसी समय के आसपास बढ़ाने की आवश्यकता है। ऐसा करने में विफलता सरकार को कठिन निर्णय लेने के लिए बाध्य करेगी।

बता दें कि ट्रंप दो बार शटडाउन का एलान कर चुके हैं। अगर वह बार-बार ऐसा करेंगे तो अमरीकी बाजार बुरी तरह हिल जाएंगे। पहले से धीरे-धीरे अर्थव्यवस्था में सुस्ती के लक्षण दिखने लगे हैं। नॉन-प्रॉफिट कमेटी ऑफ ए रिस्पॉन्सिबल फेडरल बजट की अध्यक्ष माया मैकगिनैस ने मीडिया से बातचीत में कहा, "सही मायने में कांग्रेस और वाइट हाउस इन सभी मुद्दों केलिए अंतिम समय तक इंतजार करने पर आमादा दिख रहे हैं। ऐसा लगता है कि वो मूल रूप से सब कुछ वे गलत कर सकते थे और वो गलत कर रहे हैं।"

 

विश्व से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर ..