America: जॉनसन ऐंड जॉनसन की कोरोना वैक्सीन को मिली मंजूरी, एक ही खुराक है काफी

|

Updated: 28 Feb 2021, 03:54 PM IST

HIGHLIGHTS

  • अमरीका की फूड ऐंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन ने जॉनसन ऐंड जॉनसन की वैक्सीन को मंजूरी दी है।
  • इससे पहले अमरीका में Moderna और Pfizer-BioNTech की वैक्सीन को मंजूरी दी है।

वॉशिंगटन। कोरोना महामारी से जूझ रही पूरी दुनिया के लिए अब थोड़ा राहत की बात है कि कई देशों में तेजी से कोरोना टीकाकरण अभियान चलाया जा रहा है। हालांकि, कोरोना के नए स्ट्रेन सामने आने के बाद से चिंताएं भी बढ़ी है। इस बीच अमरीका में एक और कोरोना वैक्सीन को मंजूरी मिल गई है।

अमरीका ने शनिवार को जॉनसन ऐंड जॉनसन कंपनी की कोरोना वैक्सीन को मंजूरी दे दी है। शनिवार को अमरीका की फूड ऐंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन ने जॉनसन ऐंड जॉनसन की वैक्सीन को मंजूरी दी है। इससे पहले अमरीका में Moderna और Pfizer-BioNTech की वैक्सीन को मंजूरी दी है। इसके साथ ही अमरीका में अब तीन वैक्सीन को मंजूरी मिल गई है।

कर्मचारियों के लिए Corona Vaccine खरीदने की योजना बना रहीं देश की कई कंपनियां, लिस्ट में ये नाम शामिल

बताया जा रहा है कि जॉनसन ऐंड जॉनसन की वैक्सीन कोरोना के खिलाफ काफी असरदार है। इस वैक्सीन की सिर्फ एक ही डोज कोरोना के खिलाफ काफी कारगर है। अभी तक जितने भी वैक्सीन को दुनिया के अलग-अलग देशों में मंजूरी मिली है, उनकी दो डोज लेना जरूरी है।

अब तीसरे वैक्सीन की मंजूरी मिलने के बाद अमरीका में कोरोना टीकाकरण अभियान और भी तेज गति से आगे बढ़ाया जाएगा। वैक्सीन की एक डोज काफी असरदार होने की वजह से वैक्सीनेशन को तेज करने में काफी मदद मिलेगी। बता दें अमरीका में कोरोना की वजह से अब तक 5 लाख से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है।

वैक्सीनेशन अभियान में तेजी उम्मीद

कोरोना की तीसरी वैक्सीन की मंजूरी मिलने के बाद से अमरीका में वैक्सीनेशन अभियान में तेजी आने की उम्मीद है। माना जा रहा है कि अब देश में हर वयस्क को वैक्सीनेट किया जा सकेगा।

FDA के पैनल ने एकमत से जॉनसन ऐंड जॉनसन वैक्सीन को क्लियर किया और कहा कि वैक्सीन गंभीर बीमारी, अस्पताल में भर्ती करने की जरूरत और मौत की आशंका को कम करने में वैक्सीन को असरदार पाया गया। इधर देश में तीसरे वैक्सीन की मंजूरी मिलने पर राष्ट्रपति जो बिडेन ने अमरीका के लिए काफी उत्साहजनक खबर बताया है।

कोरोना वैक्सीन लेते ही बेहोश हो गई नर्स, सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा वीडियो

बता दें कि जॉनसन ऐंड जॉनसन की वैक्सीन को तीन महाद्वीपों में ट्रायल किया गया है। तीनों महाद्वीपों में इसका प्रभाव 80 फीसदी से अधिक पाया गया। अमरीका में गंभीर बीमारी के खिलाफ 85.9%, दक्षिण अफ्रीका में 81.7% और ब्राजील में 87.6% सुरक्षा पाई गई।

हालांकि, ट्रायल के दौरान इसकेक कुछ साइड इफेक्ट भी देखे गए जो कि 2.3 फीसदी है। आकलन है कि जून के आखिर तक 10 करोड़ खुराक उपलब्ध हो सकती है। जॉनसन एंड जॉनसन ने माना है कि इस महीने की शुरुआत में 30 से 40 लाख खुराकें फौरन उपलब्ध हो सकती हैं।