लूट-चोरी गैंग के 6 सदस्य किराए के मकान से गिरफ्तार, खौफ कम करने पुलिस ने शहर में निकाला जुलूस

|

Updated: 09 Mar 2021, 03:35 PM IST

Loot-thief gang: शहर में वाहन चोरी व लूट की ताबड़तोड़ घटना को अंजाम दे रहे ६ आरोपी गिरफ्तार, नवागढ़ में किराए के मकान में दबिश देकर पुलिस टीम ने दबोचा

अंबिकापुर. शहर व आस पास के क्षेत्रों में चोरी, लूट की घटनाएं (Loot-thief) काफी बढ़ गईं थीं। ताबड़तोड़ वारदातें पुलिस के लिए यह सिर दर्द बन गईं थी। बदमाश 24 फरवरी से 7 मार्च तक चोरी, लूट की पांच घटनाओं को अंजाम दे चुके थे। ७ मार्च को शहर से लगे लुचकी घाट के पास शाम 7.45 बजे पिकअप सवार टमाटर व्यवसायी के वाहन के आगे तीन बदमाश स्कूटी अड़ाकर मारपीट करते हुए ८ हजार नकद व मोबाइल लूट कर फरार हो गए।

व्यवसायी ने इसकी रिपोर्ट कोतवाली में दर्ज कराई थी। रिपोर्ट के बाद पुलिस हरकत में आई और घटना के कुछ ही घंटे के अंदर गिरोह के 6 सदस्यों को गिरफ्तार किया है। (Loot-thief gang)

सभी आरोपी घटना को अंजाम देने के बाद शहर के नवागढ़ स्थित किराए के मकान में छिपे थे। पुलिस ने सभी का पहले शहर में जुलूस निकाला और कोर्ट ले गई। कोर्ट के निर्देश पर सभी को जेल भेज दिया गया है।


नगर पुलिस अधीक्षक एसएस पैकरा ने घटना के संबंध में बताया कि प्रार्थी राम खेलावन यादव निवासी लुण्ड्रा थाना क्षेत्र के ग्राम तुरियाबिरा का रहने वाला है। वह टमाटर व्यवसायी है। रविवार को लुण्ड्रा से पिकअप में टमाटर लोड कर अंबिकापुर मंडी आ रहा था।

शाम करीब ७.४५ बजे जैसे ही वह पिकअप से लुचकी घाट काली मंदिर के पास पहुंचा तो सामने से तीन अज्ञात स्कूटी सवार युवकों ने पिकअप के सामने स्कूटी अड़ा दी। फिर पिकअप के रूकते स्कूटी सवार तीनों पिकअप के व्यवसायी के साथ मारपीट करने लगे। इसके बाद तीनों व्यवसायी के जेब से ८ हजार रुपए नकद व मोबाइल लूट कर फरार हो गए।

इसके बाद व्यवसायी ने किसी तरह अंबिकापुर पहुंच कर कोतवाली में रिपोर्ट दर्ज कराई। पुलिस अज्ञात के खिलाफ अपराध दर्ज कर आरोपियों की तलाश में जुट गई। पुलिस अधिकारियों के निर्देश पर कोतवाली पुलिस, साइबर सेल व स्पेशल टीम की संयुक्त टीम बनाकर आरोपियों की पतासाजी की जा रही थी।

टीम को मुखबिर से सूचना मिली की कुछ युवक संदिग्ध अवस्था में शहर के नवागढ़ में किराए के मकान में रूके हैं। पुलिस ने घेराबंदी कर कांतिप्रकाशपुर लुचकी घाट निवासी १९ वर्षीय कृष्णा यादव पिता मनीष यादव, २० वर्र्षीय मनीष सोनवानी पिता दुलार राम, बरेजपारा निवासी १९ वर्षीय अरसद अंसारी पिता नूर खान, नवागढ़ निवासी १८ वर्षीय जावेद अंसारी पिता महयुदन अंसारी, पत्थलगांव निवासी २० वर्षीय जयपाल, खैरबार निवासी २१ वर्षीय सोमार को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो सभी लूट की घटना को अंजाम देने की बात स्वीकार ली।

पुलिस ने इनके पास से चोरी व लूट के एक नग स्कूटी, एक नग बुलेट, ६ नग मोबाइल व नकद रकम जब्त की है। पुलिस ने सभी आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई कर उन्हें जेल भेज दिया है।

कार्रवाई में कोतवाली टीआई भारद्वाज ङ्क्षसह, सरफराज फिरदौसी, प्रमोद पांडेय, अनिल सिंह, धीरज गुप्ता, मो. इम्तियाज अली, अभय चौबे, परवेज फिरदौसी, सत्येंद दुबे, विमल, जितेन्द्र मिश्रा, इजहार अहमद व स्पेशल व साइबर सेल की टीम सक्रिय रहे।


पुलिस ने बदमाशों का जुलूस निकाला
कोतवाली पुलिस ने लूट व चोरी के मामले में कुल ६ आरोपियों को गिरफ्तार करने के बाद उनका जुलूस भी निकाला। पुलिस आरोपियों को कड़े पहरे में कोतवाली थाने से पैदल ही न्यायालय ले गई। ऐसा करके पुलिस द्वारा अपराधियों व असामाजिक तत्वों को कड़ा संदेश देने की कोशिश की गई।


इन घटनाओं को दिया है अंजाम
केस -1
प्रार्थी राहुल सोनी प्रतापपुर रोड का निवासी है। वह २८ फरवरी को किसी काम से बुलेट से अग्रसेन भवन गेट के पास गया था। उसने बुलेट वहीं पर खड़ी की थी। इस दौरान बदमाशों ने इसकी बुलेट को पार कर दिया था। गिरफ्तार आरोपियों ने इस घटना को भी स्वीकार किया है।


केस-2
प्रतापपुर रोड निवासी विनय कुमार गुप्ता २४ फरवरी को अपनी स्कूटी से महामाया मंदिर के पास गया था। उसने महामाया मंदिर के पास स्कूटी खड़ी की थी। इसी दौरान अज्ञात बदमाशों ने स्कूटी पार कर दी थी। उसने इसकी रिपोर्ट कोतवाली में दर्ज कराई थी। आरोपियों ने इस घटना को भी स्वीकार किया है।


केस-3
बगीचा थाना क्षेत्र के टांगरडीह निवासी अर्नितोष लकड़ा १ मार्च को अंबिकापुर एडमिशन कराने आया था। यहां से एडमिशन कराने के बाद स्कूटी से घर लौट रहा था। रास्ते में लालमाटी जंगल में दोपहर २.३० बजे इन्हीं बदमाशों ने रोक कर सौ रुपए नकद व १६ हजार का मोबाइल लूट लिया था।


केस -4
एमजी रोड स्थित टाइम आउट सिनेमा के पीछे निवासी आकांक्षा अग्रवाल ४ मार्च को १२ बजे अपनी बहन के साथ स्कूटी से सदर रोड गई थी। इसी समय पीछे से सफेद रंग की स्कूटी पर सवार बदमाश आए व युवती के हाथ से मोबाइल लूट कर फरार हो गए। आरोपियों ने इस जुर्म को भी कबूल किया है।