देश की रक्षा करने में अव्वल है अलवर, जिले के 158 जवानों ने देश के लिए न्योछावर किए हैं प्राण, इन सभी को सलाम

|

Published: 15 Aug 2020, 09:01 AM IST

देश की सुरक्षा में अलवर जिले के 158 सैनिक शहीद हो चुके हैं, राजस्थान में झुंझुनू के बाद सबसे अधिक अलवर जिले के जवान शहीद हुए हैं

अलवर. मेरे देश की मातृभूमि की रक्षा करने में पूरे प्रदेश में अलवर जिला अव्वल रहा है। आजादी के बाद से ही सीमाओं की चौकसी करते और दुश्मनों से लोहा लेने में यहां के सैनिक आगे रहे हैं। तभी तो प्रदेश में झुंझुनूं के बाद सबसे अधिक अलवर जिले में शहीदी हुए हैं। अब तक जिले में 158 शहीद हो चुके हैं। आजादी के दिन 15 अगस्त को इन जाबांज को याद करना और इनके परिवारों को अभिनन्दन करना ही गर्व का विषय है। जिले भर में शहीदों की प्रतिमाएं लगी हुई है।

जिले में सबसे अधिक बहरोड़, बानसूर, मुण्डावर व नीमराणा क्षेत्र से करीब 106 जाबांज शहीद हो चुके हैं। जबकि शेष जिले भर से 58 सैनिक अपनी मातृभूमि पर प्राण न्यौछावर कर चुके हैं।

स्कूल-कॉलेजों में देशभक्ति गीत नहीं

इस बार स्वतंत्रता दिवस पर स्कूल-कॉलेजों में पहले की तरह कार्यक्रम नहीं हो सकेंगे। न पहले की तरह देश भक्ति गीतों की गूंज सुनाई देगी। लेकिन, जिले में कई जगहों पर शहीदों की प्रतिमाओं पर पहुंचकर जाबांजों को श्रद्धासुमन अर्पित किए जाएंगे। देश भक्ति के गीतों की यहां गूंज रहेगी। परिवार के लोगों का अभिनन्दन किया जाएगा।

कहां से कितने-कितने जवान हुए शहीद

अलवर तहसील 12

कोटकासिम 11

तिजारा 12

किशनगढ़बास 5

कठूमर 4

लक्ष्मणगढ़ 4

राजगढ़ 02

रामगढ़ 02