अलवर में कोरोना के गंभीर मरीजों की इलाज के लिए होने वाली निशुल्क जांच शुरू करने के लिए विधायक संजय शर्मा ने मुख्यमंत्री को लिखा पत्र

|

Published: 18 Sep 2020, 10:03 AM IST

शहर विधायक ने टॉक्लिजुमैब इंजेक्शन लगाने से पहले होने वाली छह तरह की नि:शुल्क जांच कराने के लिए मुख्यमंत्री को पत्र लिखा है।

अलवर. जिला अस्पताल में रेमडिसिवयर के 50 इंजेक्शन और आ गए हैं। जिससे निश्चित रूप से कोरोना के अधिक गंभीर मरीजों को इलाज मिल सकेगा। ये इंजेक्शन लगाने के बाद मरीज को जयपुर रैफर किया जाता है तो आसानी से मरीज पहुंच जाते हैं। बीच राह में अधिक परेशानी नहीं होती है। इससे पहले 30 इंजेक्शन आए थे। जो पूरे होने के बाद दुबारा मांग के बाद इंजेक्शन भेजे गए हैं। एक इंजेक्शन की कीमत करीब 5 हजार रुपए है। एक मरीज को नियमित रूप से इलाज देने पर 6 इंजेक्शन लगाए जाते हैं।

दूसरी ओर शहर विधायक ने टॉक्लिजुमैब इंजेक्शन लगाने से पहले होने वाली छह तरह की नि:शुल्क जांच कराने के लिए शहर विधायक संजय शर्मा ने मुख्यमंत्री को पत्र लिखा है। इसे बहुत जरूरी बताया है ताक आमजन की जान बचाई जा सके। टॉक्लीजुमैब से पहले जांच की मंजूरी मिलने की संभावना जिले में अभी तक कोरोना के अधिक गंभीर मरीजों की 6 तरह की जांच नहीं होने लगी है। जिसके कारण अधिक गंभीर मरीजों को पूरा इलाज नहीं मिलने लगा है। पत्रिका के लगातार मुद्दा उठाने के बाद अब लग रहा है कि जल्दी ये जांच सरकार की तरफ से नि:शुल्क होने लगेंगी। जिसके लिए जिला अस्पताल ने आगे लिखकर दिया हुआ है। अब उसके आधार पर जल्दी मंजूरी मिलने की संभावना है। वैसे भी जिला अधिकारियों को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए उच्च अधिकारी कह चुके हैं कि छह तरह की जांच करा सकते हैं। जिसके लिए आवश्यक तैयारी की जा सकती है। अब जांच के लिए मंजूरी मांगी गई है। ताक जल्दी निजी लैब को टेण्डर देकर रियायती दरों पर मरीजों की जांच हो सके।