अखाड़ा परिषद की बैठक में 8 प्रस्ताव पास, काशी-मथुरा को मुक्त कराने की बनी रणनीति

|

Published: 07 Sep 2020, 03:11 PM IST

काशी-मुथरा को मुक्त कराने के लिए अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद ने आरएसएस और विहिप से मांगा समर्थन

प्रयागराज. प्रयागराज में अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद की बैठक में 8 अहम प्रस्ताव पास हो गये हैं। बैठक में मथुरा कृष्ण जन्मभूमि और काशी विश्वनाथ मंदिर को मस्जिद मुक्त कराने की रणनीति बनाई गई। इसके लिए अखाड़ा परिषद ने राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) और विश्व हिंदू परिषद (विहिप) से समर्थन मांगा है। बैठक में अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरी और सचिव हरिगिरि के अलावा सभी 13 अखाड़ों के प्रतिनिधि मौजूद रहे।

अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष नरेंद्र गिरी ने बताया कि काशी-मथुरा को मुक्त कराने की रणनीति तैयार हो गई है। इसके लिए आरएसएस और विहिप से भी समर्थन मांगा गया है। उन्होंने कहा कि दूसरे पक्ष से काशी-मथुरा हिंदुओं को स्वेच्छा से सौंपने की अपील की जाएगी। पहले बात कर सहमति बनाने की कोशिश होगी, लेकिन अगर सहमति नहीं बनी तो कानूनी लड़ाई लड़ी जाएगी। अखाड़ा परिषद ने कोरोना संक्रमण के चलते माघ मेले पर रोक नहीं लगाने की सरकार से मांग की है।

'दोनों ही स्थल हिंदुओं की आस्था का केंद्र'
बैठक से पहले महंत नरेंद्र गिरि ने कहा था कि काशी विश्वनाथ मंदिर में ज्ञानवापी मस्जिद का निर्माण अवैध है। श्रीकृष्ण जन्मभूमि में मस्जिद जबरन बनाई गई है। दोनों ही स्थल हिंदुओं की आस्था का केंद्र हैं, उसे जल्द मुक्त किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि जिन स्थानों पर खुदाई की जा रही है वहां मंदिर, सुरंग और कई अन्य अवशेष मिले हैं। इन प्रमाणों से स्पष्ट है कि यहां पहले भव्य मंदिर थे।