गुजरात पुलिस ने फरार आरोपियों के विरुद्ध छेड़ा अभियान: राज्यभर में 21 दिनों में पकड़े गए ८४५ वांछित

|

Published: 05 Feb 2021, 09:27 PM IST

Gujarat police, Wanted accused, Special drive, DGP, Gujarat, Ahmedabad city सबसे ज्यादा १४० आरोपियों को अहमदाबाद शहर पुलिस ने दबोचा, डीजीपी भाटिया के निर्देश पर 10 जनवरी से 9 फरवरी तक ड्राइव

अहमदाबाद. हत्या, लूट, डकैती सरीखे गंभीर अपराधों को अंजाम देने के बाद सालों से पुलिस की गिरफ्त से फरार चल रहे आरोपियों को पकडऩे के लिए राज्य के पुलिस महानिदेशक आशीष भाटिया ने विशेष अभियान छेडऩे के निर्देेश दिए थे। जिसका असर है कि बीते 21 दिनों में ही राज्यभर में ८४५ वांछित आरोपियों को गिरफ्तार करने में सफलता मिली है। डीजीपी के निर्देश पर सीआईडी क्राइम, शहर व जिला पुलिस ने 10 जनवरी से 9 फरवरी तक फरार आरोपियों को पकडऩे के लिए विशेष ड्राइव शुरू की है।
अभी 21 दिनों में पकड़े गए आरोपियों में सबसे ज्यादा 140 आरोपियों को अहमदाबाद शहर पुलिस की ओर से पकड़ा गया है, जबकि दूसरा स्थान दाहोद जिले का है, जिसने ६४ आरोपियों को खोज निकाला है। तीसरे स्थान पर बनासकांठा जिला पुलिस रही, जिसने 58 आरोपियों को धर दबोचा है।
अहमदाबाद ग्राम्य ने 47 पंचमहाल जिले ने 47, वलसाड ने 47, वडोदरा शहर ने 40 , सूरत शहर ने 40, जनागढ़ पुलिस ने 28 और कच्छ पूर्व गांधीधाम पुलिस की ओर से 24 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है।
इतना ही नहीं वांछित आरोपियों के विरुद्ध सीआरपीसी की धारा 70 के तहत 155 आरोपियों के विरुद्ध गिरफ्तारी वारंट भी निकाले गए हैं। सीआरपीसी की धारा 82 के तहत 19 आरोपियों के विरुद्ध कार्रवाई करते हुए भगोड़ा घोषित किया है।

दशकों से फरार आरोपी हुए गिरफ्तार
इस अभियान के चलते दशकों से फरार आरोपियों को गिरफ्तार करने में कामयाबी मिली है। बनासकांठा जिला पुलिस ने ३५ साल से फरार चल रहे एक आरोपी को पकड़ा है। आणंद पुलिस ने भी हत्या व डकैती के मामले में २६ साल से फरार चल रहे आरोपी गोरसिंह पारघी को धर दबोचा है। सूरत शहर पुलिस ने हत्या के मामले में 20 साल से फरार चल रहे आरोपी मूलेश्वर वर्मा को धर दबोचा है। एनडीपीएस के एक अन्य मामले में वांछित आरोपी कालिया पीतांबर प्रधान को भी पकड़ा। इसके अलावा पंचमहाल जिला पुलिस ने 25 साल के वांछित को पकड़ा है। जामनगर में 10 साल से वांछित आरोपी को पकड़ा।

बीते साल 10 दिन में 149 को पकड़ा था
आशीष भाटिया ने बीते साल 2020 में भी पांच फरवरी से 14 फरवरी के दौरान फरार आरोपियों को पकडऩे के लिए विशेष अभियान छेडऩे का निर्देश दिया था। उस समय भी 10 दिनों में पुलिस ने 149 आरोपियों को पकडऩे में सफलता पाई थी।

अन्य राज्यों में भागे आरोपियों के लिए विशेष प्लान
कई आरोपी वारदातों को अंजाम देने के बाद गुजरात की सीमा से सटे पड़ोसी राज्य राजस्थान, मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र में भाग गए हैं। ऐसे आरोपियों को पकडऩे के लिए डीजीपी ने विशेष एक्शन प्लान बनाया है, जिसके तहत सीमावर्ती राज्यों के जिलों के रेंज आईजी गोधरा रेंज, वडोदरा रेंज आईजी से बैठक की है। उन्हें संबंधित राज्यों की पुलिस से संपर्क कर फरार आरोपियों पकडऩे में मददरूप होने को संपर्क के लिए कहा हैं। चुनावों को देखते हुए इस अभियान को अभी और दिन जारी रखने का भी निर्देश दिया है।