लव जेहाद पर अंकुश लगाने में गुजरात सफल: जाड़ेजा

|

Published: 08 Jan 2021, 04:42 PM IST

Gujarat police, Pradeep singh jadeja, Love jehad, Gujarat, मौजूदा कानूनों से ही की जा रही है कार्रवाई, कराई गुजरात पुलिस अकादमी में ४३८ कांस्टेबलों की दीक्षांत परेड

अहमदाबाद. गुजरात के गृहराज्यमंत्री प्रदीप सिंह जाडेजा ने कहा कि लव जेहाद के मामले राज्य में बन रहे हैं। उन पर हमारे पास जो कानून हैं, उसके आधार पर पर्याप्त कार्रवाई की जा रही है, ताकि ऐसा करने के लिए कोई अन्य व्यक्ति प्रेरित नहीं हो। जिसने ऐसा किया है, उस पर पूरी कार्रवाई की है। हम ऐसे मामलों पर अंकुश लगाने में सफल हुए हैं।
जाडेजा ने यह बात गांधीनगर के कराई स्थित गुजरात पुलिस अकादमी में लोकरक्षक दल के 13वें बैंच के ४३८ लोकरक्षक (एलआरडी-कांस्टेबल) की दीक्षांत परेड के दौरान संवाददाताओं से कही।
जाडेजा से अहमदाबाद के वटवा में हाल ही में सामने आए एक लव जेहाद के मामले में सवाल किया गया था। दरअसल वटवा में इससे जुड़ा एक मामला सामने आया है। जिसमें आरोपी को गिरफ्तार भी कर लिया गया है।
दीक्षांत परेड में गृह विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव पंकज कुमार, पुलिस महानिदेशक आशीष भाटिया, अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (ट्रेनिंग) विकास सहायक, कराई के डीआईजी एन एन चौधरी सहित वरिष्ठ पुलिस अधिकारी उपस्थित रहे।

राज्यभर में ज्वैलर्स के आसपास बढ़ाई पेट्रोलिंग
अहमदाबाद शहर में ज्वैलर्स के यहां बीते तीन चार दिनों में हुई लूट और चोरी की वारदातों को मद्देनजर रखते हुए गृह राज्यमंत्री जाडेजा ने कहा कि ज्वैलरी शोरूम और दुकानों के आसपास राज्यभर में पुलिस की पेट्रोलिंग को बढ़ा दिया गया है। उनकी सुरक्षा पर विशेष ध्यान देने को कहा है। बीते दो दिन में अहमदाबाद में हुई वारदातों में लिप्त आरोपियों की गिरफ्तारी हो चुकी है।

पुलिस को स्मार्ट के साथ शार्प होने की जरूरत
दीक्षांत परेड को संबोधित करते हुए जाडेजा ने कहा कि जिस प्रकार वाईफाई के जमाने में आरोपी हाईफाई हुए हैं उन्हें पकडऩे के लिए पुलिस को भी स्मार्ट के साथ शार्प होने की जरूरत है। जो पुलिसकर्मी आज पुलिस बेड़े से जुड़ रहे हैं उनका भी राज्य की सुरक्षा में योगदान अहम रहने वाला है। उन्हें आगामी समय की चुनौतियों को देखते हुए हर प्रकार की ट्रेनिंग दी गई है। राज्य में विश्वास प्रोजेक्ट के तहत ७ हजार सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं। पुलिस को पॉकेट एप दिया है। कई कड़़े कानून भी बनाए हैं।