टीकाकरण की धीमी रफ्तार पर कांग्रेस ने उठाए सवाल

|

Published: 15 May 2021, 04:15 PM IST

Corona, slow vaccination, congress, Shakti singh gohil, Vaccine, shortage, -प्रवक्ता व सांसद गोहिल बोले वैक्सीन ही दिलाएगी महामारी पर जीत

अहमदाबाद. देशभर में कोरोना संक्रमण के फैलाव के बीच टीकाकरण की धीमी रफ्तार पर कांग्रेस ने सवाल उठाए हैं।
कांग्रेस के प्रवक्ता एवं राज्यसभा सांसद शक्ति सिंह गोहिल ने ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी की एक रिपोर्ट का उल्लेख करते हुए कहा कि वैक्सीन बनाने की क्षमता में दुनियाभर में अव्वल भारत में केवल १० फीसदी लोगों को ही अब तक वैक्सीन का पहला टीका लग पाया है। दोनों टीके तो महज २.७ फीसदी लोगों को ही लग सके हैं। जबकि सेशल्स, इजराइल, यूएई और सैंड मैरिनो ने तो शत प्रतिशत आबादी का टीकाकरण पूरा भी कर लिया है।
ये स्थिति तब है जब महामारी से जीतने के लिए वैज्ञानिकों का कहना है कि हमें पूरी जनसंख्या के 60 प्रतिशत से अधिक लोगों का टीकाकरण करना होगा। इसके लिए हमें 'यूनिवर्सल वैक्सिनेशन' अर्थात् सभी का टीकाकरण एवं मुफ्त टीकाकरण करने की आवश्यकता है।
कांग्रेस अध्यक्षा सोनियागांधी ने इसके लिए पीएम को पत्र भी लिखा लेकिन केन्द्र सरकार ने राज्यों को टीका का खुद इंतजाम करने के लिए कह दिया। वो भी तब जब स्थिति पूरी तरह नियंत्रण से बाहर हो गई।
गोहिल ने कहा कि भारत अपनी साख़ का प्रयोग करके वैक्सीन कंपनियों पर दबाव बना सकती है और 'तीसरी वेव' आने के पहले 60 प्रतिशत से अधिक लोगों को टीकाकरण कर महामारी की चेन तोड़ सकती है।
उन्होंने देश से बाहर अन्य देशों में वैक्सीन भेजे जाने की सरकार की नीति पर भी अंगुली उठाते हुए कहा कि विदेशों में वैक्सीन भेजने के चलते आज हमारे देश के नागरिक दर दर की ठोकरें खा रहे हैं। अब बाहर के देशों से हमें वैक्सीन लाने की नौबत आई है।
उन्होंने १६ अक्टूबर २०२० को हेल्थ एवं परिवार कल्याण विभाग की संसद की स्टैंडिंग कमेटी की ओर से दिए गए वैक्सीन उत्पादन की क्षमता को बढ़ाने के सुझाव को भी दरकिनार करे का सरकार पर आरोप लगाया।