जीटीयू की बायोसेफ्टी लैब में करा सकेंगे आरटीपीसीआर टेस्ट, छह घंटे में ही मिल जाएगी रिपोर्ट

|

Published: 09 Apr 2021, 08:58 PM IST

Corona, GTU, Biosafety lab, RT PCR test, Report only 6 hours, Ahmedabad, gujarat, टेस्ट रिपोर्ट के लिए दो दिन तक नहीं करना पड़ेगा इंतजार, दोपहर 12 बजे से पहले देना होगा सैंपल, चांदखेड़ा परिसर में टेस्ट शुरू

अहमदाबाद. गुजरात तकनीकी विश्वविद्यालय के चांदखेड़ा परिसर में स्थित बायो सेफ्टी लैब में लोग महज छह घंटे में ही अपनी आरटीपीसीआर टेस्ट की रिपोर्ट प्राप्त कर सकते हैं। उन्हें यहां से रिपोर्ट पाने में कतार में लगने की जरूरत नहीं पड़ेगी। विवि के अहमदाबाद चांदखेड़ा परिसर में आरटीपीसीआर टेस्ट की शुरूआत कर दी गई है। कोई भी व्यक्ति उसका लाभ ले सकता है।
इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (आईसीएमआर) की ओर से जीटीयू की बायो सेफ्टी लैब को फरवरी महीने में ही रियल टाइम पोलिमरेज चेइन रिएक्शन (आरटीपीसीआर) टेस्ट की मंजूरी दे दी गई है।
जीटीयू कुलपति डॉ नवीन शेठ ने कहा कि कोरोना महामारी के समय में आरटीपीसीआर टेस्ट के लिए चल रही वेटिंग को ध्यान में रखे हुए विवि की लैब में आमजन के लिए टेस्ट की शुरुआत कर दी गई है। सरकार की ओर से मान्य कीमत पर ही यहां भी टेस्ट किए जा रहे हैं।
जीटीयू के अटल इन्क्यूबेशन सेंटर (एआईसी) के सीईओ डॉ वैभव भट्ट ने कहा कि अब तक 133 से ज्यादा आरटीपीसीआर टेस्ट किए जा चुके हैं। जीटीयू की बायोसेफ्टी लैब में आईसीएमआर के सभी मानदंडों के तहत जांच की जाती है। यहां सभी उपकरण हैं जिससे जल्द जांच संभव हो सकेगी।
लोगों को दोपहर 12 बजे से पहले जांच के लिए सैंपल देने होंगे और उसकी रिपोर्ट उन्हें छह घंटे में ही मिल जाएगी। आरटीपीसीआर टेस्ट कराने के इच्छुक लोग विवि के फोन नंबर ०७९२३२६७६४२ पर सुबह साढ़े दस बजे से शाम छह बजे तक संपर्क कर सकते हैं।

राज्यों में प्रवेश के लिए अनिवार्य करने पर बढ़ी मांग
देशभर में कोरोना का संक्रमण तेजी से बढऩे पर गुजरात, राजस्थान, महाराष्ट्र सहित ज्यादातर राज्यों ने बाहरी राज्यों के लोगों को प्रवेश देने के लिए आरटीपीसीआर की नेगेटिव रिपोर्ट को अनिवार्य कर दिया है। इसके चलते राज्य की सरकारी और निजी लैब में आरटीपीसीआर टेस्ट कराने के लिए बड़ी संख्या में लोग पहुंच रहे हैं। जिससे रिपोर्ट पाने के लिए उन्हें दो दिन का इंतजार करना पड़ रहा है। इसके अलावा कई लोग एंटीजन टेस्ट नेगेटिव होने पर भी शंका दूर करने को भी टेस्ट करवा रहे हैं।