देश में बॉडीवॉर्न कैमरा का व्यापक उपयोग करने वाला गुजरात पहला राज्य: जाड़ेजा

|

Published: 15 Mar 2021, 08:20 PM IST

Body Worn camera, Pradeep singh jadeja, Ahmedabad Gujarat police, Traffic, police, गुजरात पुलिस की १० हजार बॉडी वॉर्न कैमरा योजना का किया लोकार्पण, गृहराज्यमंत्री ने निहारी कैमरे की कार्यप्रणाली, डीजीपी, सीपी रहे उपस्थित

 

अहमदाबाद. गुजरात के गृह राज्यमंत्री प्रदीप सिंह जाड़ेजा ने कहा कि व्यापक तौर पर बॉडीवॉर्न कैमरे का उपयोग करने वाला गुजरात देश का पहला राज्य है।

वह रविवार को गुजरात चैम्बर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज (जीसीसीआई) में गुजरात पुलिस की ओर से आयोजित गुजरात पुलिस के १० हजार बॉडी वॉर्न कैमरा प्रोजेक्ट के लोकार्पण समारोह को संबोधित कर रहे थे। १० हजार में से एक हजार कैमरे लाइव ब्रॉडकास्टिंग कैमरे हैं।
जाड़ेजा ने कहा कि गुजरात पुलिस १० हजार बॉडी वॉर्न कैमरा का उपयोग करेगी। इस पहल से राज्य का पुलिस प्रशासन ज्यादा स्मार्ट और शार्प बनेगा। इतना ही नहीं तकनीक अपग्रेडेशन की मदद से गंभीर प्रकार के अपराधों की जांच में पुलिस को और मदद मिलेगी। गुजरात की शांति और सुरक्षा में यह बॉडीवॉर्न कैमरे प्रभावी हथियार साबित होंगे। पुलिस कर्मचारियों पर लगने वाले बेबुनियाद आरोपों से भी बचाव होगा।
बॉडीवॉर्न कैमरा की उपयोगिता बताते हुए गृह राज्यमंत्री ने कहा कि ट्रैफिक नियमन, कानून एवं व्यवस्था, वीवीआईपी लोगों की सुरक्षा सरीखी पुलिस कर्मचारियों की बहुविध ड्यूटी में पुलिस कर्मचारी यूनिफोर्म पर, हेलमेट या अन्य जगह इस कैमरे को पहनेंगे। इससे उनका कार्य प्रभावी होगा।

२०१७-२०२० के दौरान ३० हजार पदों पर की भर्ती
जाड़ेजा ने कहा कि पुलिस सेवा विस्तार और आधुनिकीकरण के क्षेत्र में भी गुजरात देशभर में अग्रणी है। वर्ष २०१७ से २०२० के दौरान गुजरात सरकार ने लोकरक्षक से लेकर पुलिस इंस्पेक्टर तक के संवर्ग में ३०४१९ पदों पर भर्ती की है। मौजूदा वर्ष में भी सरकार ने कानून एवं व्यवस्था के लिए ७९६० करोड़ रुपए का बजट आवंटित किया है।
जाड़ेजा ने इस दौरान जीसीसीआई के बाहर ट्रैफिक पुलिस एवं पुलिस कर्मचारियों की ओर से अपनी वर्दी के ऊपर बॉडीवॉर्न कैमरा लगाकर की जा रही ड्यूटी के निदर्शन का जायजा लिया। इसकी कार्यप्रणाली को भी समझा। उन्हें गुजरात पुलिस के कानून एवं व्यवस्था तथा पुलिस आधुनिकीकरण के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक नरसिम्हा कोमर ने कैमरों की कार्यप्रणाली की विस्तृत जानकारी दी।
इस मौके पर डीजीपी आशीष भाटिया, शहर पुलिस आयुक्त संजय श्रीवास्तव, गृह सचिव निपुणा तोरवड़े, राज्य एवं शहर पुलिस के आला अधिकारी उपस्थित रहे।