Latest News in Hindi

अहमदाबाद में भी दिल्ली के 'बुराडीकांड' जैसी घटना

By nagendra singh rathore

Sep, 12 2018 11:06:19 (IST)

काली शक्ति के अंधविश्वास में पति, पत्नी व बेटी ने की आत्महत्या, सुसाइड नोट में उल्लेख 'काली शक्तियां इतनी आसानी से पीछा नहीं छोड़तीं'

अहमदाबाद. शहर के नरोड़ा इलाके में भी दिल्ली के बुराड़ी कांड जैसी घटना प्रकाश में आई है। मंगलवार देर रात को एक मकान से एक ही परिवार के तीन लोगों-पति, पत्नी और पुत्री- के शव मिले जबकि वृद्ध मां बेहोशी की हालत में मिली। काली शक्ति के अंध विश्वास में कॉस्मेटिक व्यापारी कुणाल त्रिवेदी (५०), उसकी पत्नी कविता और पुत्री सिरिन (१६) के फांसी लगाकर आत्महत्या करने की बात का पता चला है। वहीं कुणाल की माता जयश्रीबेन भी घर में बेहोशी की हालत में मिलीं हैं जिन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है।
नरोड़ा पुलिस के अनुसार यह घटना मंगलवार देर रात सामने आई। हरिदर्शन चार रास्ते के पास अवनी अपार्टमेंट में किराए के मकान में रहने वाले कुणाल के घर से एक सुसाइड नोट भी मिला है। तीन पेज के हिंदी में लिखे सुसाइड नोट में उसने 'काली शक्तियां इतनी आसानी से पीछा नहीं छोड़ती हैं' का उल्लेख किया है। इससे पुलिस को अंधविश्वास के चलते यह घटना होने की आशंका है।
मंगलवार देर रात पुलिस को इस घटना की सूचना कुणाल के रिश्तेदारों से मिली। रिश्तेदारों ने पुलिस को बताया कि काफी समय से कुणाल उनके फोन नहीं उठा रहे हैं। इसके बाद पुलिस कुणाल के रिश्तेदारों के साथ उनके घर पहुंची। कुणाल के घर के मुख्य कमरे में कुणाल की माता जयश्रीबेन बेहोशी की हालत में पड़ी थीं, जबकि भीतर के कमरे में कुणाल का शव फंदे पर झूलते मिला वहीं पत्नी कविता का शव नीचे फर्श पर पड़ा था। पुत्री सिरिन का शव बेड पर था।
सूत्रों का कहना है कि कुणाल पहले एक बीमा कंपनी में मैनेजर के पद पर सेवारत थे। दूसरी कंपनी से जुडऩे के बाद वह सीनियर डिवीजनल मैनेजर तक बने। इसके बाद उन्होंने खुद का कॉस्मेटिक से जुड़ा व्यापार पुत्री के नाम से व्यापार शुरू किया था। बताया जाता है कि कुणाल की आर्थिक स्थिति खराब नहीं थी।

काले जादू की दिशा में भी जांच: पीआई

नरोडा थाने के पुलिस निरीक्षक एच.बी.वाघेला ने बताया कि मृतक के घर से मिले दो सुसाइड नोट में जिस प्रकार से काले जादू की बात का उल्लेख किया है, पुलिस उस दिशा में भी जांच की जा रही है।
मृतक के घर से दूसरी सुसाइड नोट भी मिली है, जिसमें आपसी सहमति से बारी-बारी से आत्महत्या करने का उल्लेख किया गया है।
पोस्टमार्टम रिपोर्ट में भी फांसी लगाकर के तीनों ही लोगों की मौत होने की बात सामने आई है। कमरे में एक ही पंखा होने के कारण पहले पुत्री सिरिन, फिर कविता और उसके बाद कुणाल के इसी पंखे से लटककर आत्महत्या किए जाने की बात सामने आ रही है। विषाक्त खाने या खिलाने की बात अब तक सामने नहीं आई है। मृतक की माता की हालत में सुधार है हालांकि वह बोलने की स्थिति में नहीं हैं। पुलिस ने बताया कि काले जादू की बात को फिलहाल उनके अन्य परिजनों से समर्थन नहीं मिल रहा है।