तीसरी लहर से लड़ने को तैयार आगरा, यह है तैयारी

|

Updated: 20 May 2021, 12:00 PM IST

- आगरा में ऑक्सीजन की भंडारण क्षमता 1.70 लाख लीटर, अधिग्रहित किए गए 8 प्लांट

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
आगरा। कोरोना की दूसरी लहर ने चहुंओर तबाही मचाई। आॅक्सीजन की कमी के चलते कई लोगों की जान चली गई। तीसरी लहर में ऐसा न हो इसलिए आगरा में बड़े स्तर पर तैयारी की जा रही है। ताजनगरी में 1.70 लाख लीटर आॅक्सीजन के भंडारण की व्यवस्था की गई है। साथ ही आठ प्लांट अधिग्रहित किए गए हैं जो आॅक्सीजन की कमी नहीं होने देंगे।
यह भी पढ़ें—

इस जिले में दूध, सब्जी और दवाओं की दुकान के बाद खोले गए जन सेवा केंद्र, कोविड 19 नियमों का करना होगा पालन

तीसरी लहर की है तैयारी
डीएम आगरा प्रभु एन सिंह बताते हैं कि जिस तरह दूसरी लहर में आगरा के अंदर आॅक्सीजन की कमी हुई उस तरह अब तीसरी लहर में नहीं होगी। पिछले दिनों दिल्ली समेत कई राज्यों में एलएमओ की आपूर्ति के सापेक्ष भंडारण नहीं होने से ऑक्सीजन संकट गहराया था। ऐसे हालात आगरा में नहीं बनेंगे। तीसरी लहर से निपटने के लिए आगरा में दो लाख लीटर मेडिकल लिक्विड ऑक्सीजन (एलएमओ) भंडारण की क्षमता विकसित की गई है। संभवत: प्रदेश में आगरा पहला जिला हैं जहां तीसरी लहर के लिए इतनी बड़ी मात्रा में एलएमओ का भंडारण किया जा सकेगा।
यह भी पढ़ें—

असली नोटों की गड्डी में निकलते थे मनोरंजन बैंक के नकली नोट, चार शातिरों से बरामद हुए 12 लाख

मुख्यमंत्री के आगमन के बाद शुरू हुई तैयारी
यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ हाल ही में आगरा आए थे। उस समय सीएम ने डीएम से ऑक्सीजन बैकअप तैयार करने और आकस्मिक स्थिति में भंडारण की व्यवस्था के आदेश दिए थे। इसके बाद जिला प्रशासन ने टेढ़ी बगिया, जलेसर रोड स्थित आठ एलएमओ ऑक्सीजन प्लांट का अधिग्रहण किया है। डीएम के मुताबिक जिला प्रशासन ने 1.70 लाख एमएमओ भंडार करने की क्षमता वाले आठ प्लांट का अधिग्रहण किया है। सिकंदरा व टेढ़ी बगिया स्थित दो हवा से ऑक्सीजन बनाने वाले प्लांट से औसतन रोज 2300 से 2500 सिलिंडर की आपूर्ति हो रही है।

इन प्लांट का किया अधिग्रहण—
- श्रीराम एयर प्रोडक्ट, जलेसर रोड खंदौली — 20 हजार लीटर
- अग्रवाल आईएनसी, जलेसर रोड खंदौली — 20 हजार लीटर
- श्यामजी गैस, नंदलालपुर खंदौली — 20 हजार लीटर
- एडवांस गैसेस, शास्त्रीपुरम सिकंदरा — 20 हजार लीटर
- श्री राधा मनोहर गैसेस, खंदौली — 30 हजार लीटर
- बांके बिहारी एयर प्रोडक्ट, टेढ़ी बगिया — 20 हजार लीटर
- श्रीराधे गैसेस, जलेसर रोड, खंदौली — 20 हजार लीटर
- संभवी गैसेस, आंवलखेड़ा — 20 हजार लीटर