ताजनगरी की साख पर लग रहा जिस्म फरोसी की बदनामी का धब्बा, धड़ाधड़ छापेमारी के बाद भी हो रहा गंदा काम

|

Published: 06 Apr 2021, 02:40 PM IST

— आगरा के गली—मुहल्लों में संचालित हो रहे होटलों में चल रहा है जिस्म फरोसी का गंदा काम।

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
आगरा। मुहब्बत की नगरी कही जाने वाली ताजनगरी की साख पर जिस्म फरोसी के धंधे की बदनामी का बड़ा धब्बा लगा है। यहां गली और मुहल्लों में देह व्यापार का धंधा जोरों पर है। कई बार धड़ाधड़ छापेमारी के बाद एक बार फिर होटलों और रेस्टोरेंट में गंदा काम शुरू हो गया है जबकि पुलिस इस गलीच धंधे में शामिल कई लोगों को जेल भेज चुकी है।
यह भी पढ़ें—

प्रेमिका से मिलने उसके घर पहुंचे प्रेमी को तालिबानी सजा देने वाले आरोपी हुए भूमिगत, पुलिस तलाश में जुटी

इस तरह हुई आगरा में छापेमारी
आगरा में तत्कालीन एसएसपी बबलू कुमार के निर्देशन में पुलिस ने लगातार छापेमारी की। जिसमें तीन फरवरी को बिचपुरी मार्ग पर स्थित एक होटल से 18 युवक और युवतियां पकड़े गए थे। पुलिस ने होटल संचालक को जेल भेज दिया था। ताजगंज क्षेत्र में 11 फरवरी को पुलिस ने छापेमारी की जहां उज्बेकिस्तान की दो युवतियों के साथ पांच युवक पकड़े गए थे। पुलिस ने लड़कियों की सप्लाई करने वाले एजेंट भीमा को गिरफ्तार कर लिया था। 15 फरवरी को भी पुलिस ने 10 युवक और चार युवतियों को एक मकान से बरामद किया था। 14 दिसंबर को थाना रकाबगंज के पास एक होटल से चार महिलाओं और एक युवती के साथ दो युवकों को पकड़ा गया था। फतेहाबाद रोड स्थित होटल में तीन फरवरी वर्ष 2020 को पुलिस ने छापा मारकर उज्बेकिस्तान की तीन, नेपाल की एक और दिल्ली की एक युवती को पकड़ा था। इनके अलावा दो दलालों को भी गिरफ्तार किया गया था। कुबेरपुर स्थित एक होटल से भी पुलिस ने छापेमारी के दौरान युवक और युवतियों को पकड़ा था। उस समय पुलिस ने आगरा क्षेत्र के होटलों पर शिकंजा कसा था और उन्हें बंद करा दिया था। एसएसपी बबलू कुमार का तबादला होने के बाद एक बार फिर होटल खुल गए हैं और गंदा काम एक बार फिर शुरू हो गया है।