मथुरा और फिरोजाबाद के गंभीर कोरोना संक्रमित मरीजों के आगरा रेफर पर रोक

|

Published: 25 Apr 2021, 01:48 PM IST

- आगरा में काफी संख्या में इलाज कराने के लिए दूसरे जिलों से आ रहे हैं मरीज।

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

आगरा। अन्य जिलों के गंभीर कोरोना मरीजों को आगरा रेफर पर डीएम ने रोक लगा दी है। आगरा में चिंताजनक स्थिति होने के साथ ही आॅक्सीजन की भारी किल्लत है। इसके चलते डीएम आगरा ने दूसरे जिलों से रेफर होकर आने वाले मरीजों पर रोक लगा दी है। इसके साथ ही आगरा के अस्पतालों का आॅडिट करने के निर्देश दिए हैं। किस अस्पताल में कितने बेड, कितनी आॅक्सीजन और क्या व्यवस्थाएं हैं। इसका टीम सर्वे करेगी।

यह भी पढ़ें-

यहां चुनाव में कोरोना का आना मना है, देखिए पोलिंग पार्टी रवाना होने से पहले किस तरह उड़ रही सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां

डीएम ने की अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक

डीएम आगरा प्रभु एन सिंह ने शनिवार को एसएसपी मुनिराज जी, एडी हेल्थ डॉ. अविनाश सिंह, सीएमओ डॉ. आरसी पांडेय व आईएमए सदस्यों के साथ कोविड एवं आपदा प्रबंधन की समीक्षा की। जिलाधिकारी ने कहा कि एल-3 श्रेणी के गैर जिलों के मरीजों को उन्हीं जिलों में भर्ती किया जाए। मथुरा और फिरोजाबाद से एल-3 श्रेणी गंभीर मरीजों को आगरा के अस्पतालों में भर्ती नहीं किया जाए। उन्होंने कहा कि बड़ी संख्या में गैर जिलों के मरीज आगरा में भर्ती हो रहे हैं। इससे जिले में मरीजों को बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं प्रभावित हो रही हैं। डीएम ने सीएमओ डॉ. आरसी पांडेय को एक टीम गठित कर सभी कोविड अस्पतालों में ऑक्सीजन गैस की खपत और भर्ती मरीजों का ऑडिट कराने के आदेश दिए हैं। उन्होंने कहा कि कई अस्पतालों में जरूरत से ज्यादा ऑक्सीजन की मांग की जा रही है। भर्ती मरीजों की संख्या अधिक बताई जा रही है। सीएमओ की एक टीम ऐसे अस्पतालों में ऑक्सीजन व मरीजों के अलावा मौजूद संसाधनों की भी जांच करेगी।