ट्रंप के साथ इस खास जगह डिनर करना चाहते थे पीएम मोदी, किताब में हुआ चौंकाने वाला खुलासा

By: Shweta Singh

Updated On: Sep, 12 2018 12:38 PM IST

  • 'फियर: ट्रंप इन द वाइट हाउस' किताब में मोदी को ट्रंप ने अपना दोस्त बताया है।

वाशिंगटन। अमरीका के मशहूर पत्रकार बॉब वुडवर्ड की नई किताब पर चर्चा या यूं कहें कि विवाद जारी है। 'फियर: ट्रंप इन द वाइट हाउस' नाम की इस किताब में लिखी कई बातों पर वाइट हाउस की ओर से कई सवाल खड़े किए गए। अब किताब में हुए भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की दोस्ती का जिक्र सुर्खियां बटोर रहा है। किताब में मोदी को ट्रंप ने अपना दोस्त बताया है।

'प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी मेरे दोस्त हैं'

ट्रंप के हवाले से किताब में कहा गया है कि मोदी ने उन्हें बताया कि अफगानिस्तान से अमरीका को कुछ भी नहीं मिला है। इसके साथ-साथ मोदी-ट्रंप के कई और फसाने भी हैं जिनका जिक्र किताब में है। ट्रंप के बयान का ही हवाला देते हुए किताब में लिखा गया है कि, 'भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मेरे एक दोस्त हैं, मैं उन्हें बहुत पसंद करता हूं।' किताब में कहा गया कि ट्रंप ने ये मनोभाव पिछले साल की 19 जुलाई को वाइट हाउस में एक बैठक के दौरान व्यक्त किए थे, जिससे करीब तीन हफ्ते पहले वहां मोदी और ट्रंप की बैठक हुई थी।

अफगानिस्तान-पाकिस्तान पर मोदी-ट्रंप के बीच ये चर्चा

आपको बता दें कि किताब में ये भी कहा गया कि जुलाई की बैठक में ट्रंप को मोदी ने बताया कि अमरीका को अफगानिस्तान से कुछ भी नहीं मिला है जबकि अफगानिस्तान में बड़े पैमाने पर खनिज संपदा है। जिसके जवाब में ट्रंप ने कहा, 'अमरीका को अफगानिस्तान के कुछ कीमती खनिजों की जरूरत है, चाहे इसके बदले कोई भी समर्थन देना पड़े और जब तक अमरीका को ये हासिल नहीं हो जाता, तब तक मैं कोई दूसरा समझौता नहीं कर रहा हूं।' इसके अलावा ट्रंप और मोदी के बीच पाकिस्तान को लेकर हुई चर्चा का भी जिक्र इस किताब में दिया गया है। किताब में ट्रंप का बयान दिया गया है कि, 'अमरीका को पाकिस्तान को फंड तब तक बंद करना देना चाहिए जब तक कि वे आतंकवाद जैसे मुद्दों पर उनका सहयोग नहीं करते है।'

आपसी ताल मेल बढ़ाने के लिए दिया था प्रस्ताव

इसमें एक और रोचक वाकये का जिक्र किया गया है। इसमें कहा गया है कि पीएम मोदी राष्ट्रपति के साथ आपसी ताल-मेल बढ़ाने के लिए कैंप डेविड में डिनर पर जाना चाहते थे, लेकिन ट्रंप ने इस प्रस्ताव पर अपनी सहमति नहीं दी। आपको बता दें कि कैंप डेविड अमरीकी राष्ट्रपति के एकांतवास की जगह है, जहां वो खास विदेशी मेहमानों के साथ मुलाकात करते हैं। हालांकि पुस्तक चर्चा में है, लेकिन वाइट हाउस की ओर से इसे पूरी तरह से काल्पनिक बताया जा रहा है। विवाद इस बात को लेकर है कि किताब में ट्रंप को अराजक, अस्थिर और अनभिज्ञ के रूप में बताया गया है।

Published On:
Sep, 12 2018 12:24 PM IST