स्मृति शेष... सुषमा स्वराज के नाम दर्ज हैं कई कीर्तिमान

By: Nitin Bhal

|

Updated: 07 Aug 2019, 12:22 AM IST

Ambala, Ambala, Haryana, India

अंबाला. पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ( sushma swaraj ) का मंगलवार रात निधन हो गया। दिल का दौरा पडऩे के बाद मंगलवार रात साढ़े 9 से 10 बजे के बीच उन्हें दिल्ली स्थित ऑल इंडिया इंस्टिट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज ( AIIMS ) में भर्ती कराया गया था। विदेश मंत्री के कार्यकाल के दौरान सोशल मीडिया पर शिकायतों को सुनने और उनके निपटारे के लिए काफी लोकप्रिय रहीं सुषमा अपनी जिंदगी के आखिरी दिन भी सोशल मीडिया पर सक्रिय रहीं।

25 साल की उम्र में बनीं थी कैबिनेट मंत्री

Sushma Swaraj holding many records as politician

14 फरवरी 1952 को जन्मीं सुषमा स्वराज के नाम कई कीर्तिमान हैं, जिसे अब देश याद करेगा। 1977 में जब वह 25 साल की थीं, तब वह भारत की सबसे कम उम्र की कैबिनेट मंत्री बनी थीं। वह 1977 से 1979 तक सामाजिक कल्याण, श्रम और रोजगार जैसे 8 मंत्रालय संभाल रही थीं। इसके बाद 27 साल की उम्र में 1979 में वह हरियाणा में जनता पार्टी की राज्य अध्यक्ष बनी थीं। सुषमा स्वराज के नाम ही राष्ट्रीय स्तर की राजनीतिक पार्टी की पहली महिला प्रवक्ता होने का गौरव प्राप्त था। इसके अलावा सुषमा स्वराज दिल्ली की पहली महिला मुख्यमंत्री और विपक्ष की पहली महिला नेता थीं। इंदिरा गांधी के बाद सुषमा स्वराज दूसरी ऐसी महिला थीं, जिन्होंने विदेश मंत्री का पद संभाला था। बीते चार दशकों में वे 11 चुनाव लड़ीं, जिसमें तीन बार विधानसभा का चुनाव लड़ीं और जीतीं। सुषमा सात बार सांसद रह चुकी थीं।

सोशल मीडिया पर थीं खासी सक्रिय

Sushma Swaraj holding many records as politician

सोशल मीडिया पर सक्रिय रहने वाली सुषमा स्वराज ने अपनी मौत से कुछ घंटे पहले ही ट्वीट कर प्रधानमंत्री मोदी को जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा खत्म किए जाने पर बधाई दी थी। उन्होंने अपने आखिरी ट्वीट में लिखा, ‘प्रधानमंत्री जी- आपका हार्दिक अभिनन्दन। मैं अपने जीवन में इस दिन को देखने की प्रतीक्षा कर रही थी।’ संयोग देखिए कि इस ट्वीट के कुछ घंटे बाद ही उनके निधन की खबर आई।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।