ट्रेंक्यूलाइज के बाद अचानक कैसे फेल हुए बाघ के अंग!

By: Prem Pathak

Published On:
Jun, 11 2019 11:22 PM IST

  • अलवर. सरिस्का बाघ परियोजना में बाघ एसटी-16 की मौत के सही कारणों का अब तक पता नहीं चल सका है। हालांकि चिकित्सकों ने बाघ की मौत का प्रारंभिक कारण हीट स्ट्रोक माना है, लेकिन इस बात का खुलासा नहीं हो पाया कि टै्रंक्यूलाइज करने तक बाघ के ज्यादातर अंग कार्य कर रहे थे और बाद में सभी अंगों ने अचानक कार्य करना कैसे बंद कर दिया?

 

 

अलवर. सरिस्का बाघ परियोजना में बाघ एसटी-16 की मौत के सही कारणों का अब तक पता नहीं चल सका है। हालांकि चिकित्सकों ने बाघ की मौत का प्रारंभिक कारण हीट स्ट्रोक माना है, लेकिन इस बात का खुलासा नहीं हो पाया कि टै्रंक्यूलाइज करने तक बाघ के ज्यादातर अंग कार्य कर रहे थे और बाद में सभी अंगों ने अचानक कार्य करना कैसे बंद कर दिया?

सरिस्का में बाघ एसटी-16 की मौत को तीन दिन बीत चुके हैं, बाघ की पोस्टमार्टम रिपोर्ट के अनुसार मौत का कारण उसके प्रमुख अंग फेल हो जाना है। बाघ के पैर में संक्रमण व यूरिनल समस्या भी मौत के संभावित कारणों में मानी गई है।

अचानक क्यों फेल हुए अंग

बाघ के प्रमुख अंगों ने काम करना कैसे बंद किया, इसे स्पष्ट करने में सरिस्का प्रशासन और वन्यजीव चिकित्सा के विशेषज्ञ विफल रहे हैं।

टैं्रक्यूलाइज के एक दिन बाद तक रहता है नशा

ट्रैंक्यूलाइज और रिवाइवल देने के बाद भी बाघ समेत वन्यजीवों के शरीर में करीब एक दिन तक दवा का असर रहता है, जिससे वह नशे जैसी हालत में रहता है। टै्रंक्यूलाइज के दौरान दी गई डोज के चलते बाघ को पानी की सख्त जरूरत होती है, यदि बाघ को पर्याप्त पानी नहीं मिल पाए तो उसके अंदरुनी अंग फेल होने का अंदेशा रहता है।

बाघ की हर गतिविधि पर रखी थी नजर

टैं्रक्यूलाइज एवं रिवाइवल देने के बाद बाघ एसटी-16 की हर गतिविधि पर नजर रखी गई थी। हर 15 मिनट में बाघ की हालत की जानकारी ली जा रही थी। ट्रैंक्यूलाइज के दौरान भी पूरी सावधानी बरती गई थी।

सेढूराम यादव

डीएफओ, सरिस्का बाघ परियोजना

Published On:
Jun, 11 2019 11:22 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।