मत्स्य विश्वविद्यालय का एक और कारनामा, क्लर्क को बना दिया बीएड प्रेक्टिकल का परीक्षक

By: Hiren Joshi

Updated On:
11 Jul 2019, 12:25:40 PM IST

  • matsya university alwar : अलवर के मत्स्य विश्वविद्यालय में अनियमितताएं नहीं थम रही हैं।

अलवर. matsya university alwar : राजर्षि भर्तृहरि मत्स्य विश्वविद्यालय ( matsya university alwar ) में अनियमितताओं का खेल थम नहीं रहा है। नियमों के विपरीत विश्वविद्यालय की एक क्लर्क शिल्पा को बीएड की कम्प्यूटर द्वितीय वर्ष की प्रायोगिक परीक्षा में ही लगा दिया। राजर्षि भर्तृहरि मत्स्य विश्वविद्यालय में प्रायोगिक परीक्षाओं में परीक्षक लगाते समय भारी अनियमितताएं हो रही हैं। यह राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षा परिषद के नियमों का सरासर उल्लंघन है, जिसमें प्रशिक्षित व अनुभवी शिक्षकों को ही लगाया जाना चाहिए। बीएड करने वाले विद्यार्थियों की परीक्षा क्लर्क नहीं ले सकता है जिसको लेकर विश्वविद्यालय पर ही सवालिया निशान खड़े हो गए हैं।

एक ही व्यक्ति की कई जगह लगाई ड्यूटी

विश्वविद्यालय ने प्रायोगिक परीक्षाओं में परीक्षक लगाते समय भारी अनियमितताएं की है। इस मामले में जिले के सभी भागों से आए प्रशिक्षित शिक्षकों ने परीक्षा नियंत्रक सप्तेश कुमार को लिखित में शिकायत की है, जिसमें कहा है कि बीएड प्रायोगिक परीक्षा में अयोग्य व्यक्तियों को लगा दिया है। इसमें एक ही शिक्षक को दो से अधिक विषयों में लगा दिया है। जब शिक्षक एक विषय का है तो इससे अधिक विषयों में उसकी कमांड कैसे होगी। जिले में अनुभवी और वरिष्ठ शिक्षकों को एक भी ड्यूटी नहीं दी है। इस पूरे प्रकरण में भारी अनियमिताएं की गई है। इस मामले की शिकायत जिले के शिक्षाविदों की ओर से गुरुवार को जिला कलक्टर को भी की जाएगी और इसकी जानकारी जयपुर जाकर शिक्षा निदेशक को भी देंगे।

Updated On:
11 Jul 2019, 12:25:40 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।