AMU में ‘काली तख्ती’ और ‘सारी रात’

By: Bhanu Pratap Singh

Updated On:
06 Sep 2017, 10:34:00 AM IST

  • अलीगढ़ मुस्लिम विवविद्यालय के कल्चरल एजूकेशन सेंटर के ड्रामा क्लब के 52 वर्ष पूर्ण  होने पर थियेटक महोत्सव

अलीगढ़। अलीगढ़ मुस्लिम विवविद्यालय के कल्चरल एजूकेशन सेंटर के ड्रामा क्लब के 52 वर्ष पूर्ण हो गए हैं। इस मौके पर पांच दिवसीय थियेटर महोत्सव हुआ। इसमें 11 नुक्कड़ नाटक और 20 मंच प्रस्तुतियां पेश की गईं। ड्रामा क्लब के 50 से अधिक कलाकारों ने अपने अभिनय का प्रदर्शन किया। नाटक काली तख्ती और सारी रात को खूब सराहनी मिली।

 

 

कलाकारों का अभिनंदन

प्रमुख नाटक ‘‘काली तख्ती’’ रहा, जो कि बंटवारे के समय पर आधारित कहानी है। जाफर हसनैन द्वारा निर्देशित किया गया। दूसरा नाटक ‘‘जुबान दराज’’ रहा, जिसका स्वयं सीईसी के कोऑर्डिनेटर डॉ. एफएस शीरानी ने निर्देशित किया। कलाकार तलहा ठाकुर, रजिया खानम व मोअज्ज़म अहमद ने अभिनय कर दर्शकों का मन मोह लिया। नाटक के अन्त में दर्शकों ने कलाकारों का खड़े होकर अभिनन्दन किया। कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि कमिश्नर सुभाष चन्द्र शर्मा और विशिष्ट अतिथि के तौर पर नगर आयुक्त संतोष कुमार शर्मा, एडीएम सिटी श्याम बहादुर सिंह आदि उपस्थित रहे।

 

हँसने को मजबूर किया

दूसरे दिन विभिन्न सामाजिक विषयों पर नुक्कड़ नाटक करने के बाद शाम में अब्दुल्ला हॉल के ऑडीटोरियम में ‘‘प्राइवेट अफेयर’’ हास्य नाटक की प्रस्तुति हुई। जाफर हसनैन, शाहजे़ब खान व रजिया खानम की अभूतपूर्व अभिनय कला ने दर्शकों को लगातार एक घंटे तक हंसने को मजबूर कर दिया। दूसरी ओर मोअज्जम अहमद, शुभोनीट चटर्जी और प्रिया शर्मा ने गंभीर नाटक ‘‘झूठा सच’’ की प्रस्तुति से दर्शकों की आँखों में आंसू ला दिये।

तीसरा और चौथा दिन

तीसरे दिन एएमयू के वीएम हॉल के नाम रहा, जहां ड्रामा क्लब में इन सभी प्रस्तुतियों के साथ ही अन्य शानदार प्रस्तुतियां भी दी गईं। स्किट तोता, टोबा टैक सिंह के अलावा ‘‘एंटीक रोमिया स्क्वायर’’ नामक स्किट ने पुलिस व्यवस्था की कमजोरियों पर लोगों को खूब हंसाया। चौथे दिन की स्टेज प्रस्तुति बेगम सुल्तान जहां हाल में रही।  विधि की छात्राओं ने नाटकों का जमकर आनन्द उठाया।

 

टिकट लेकर देखा नाटक

पांचवां और अन्तिम दिन महोत्सव के लिए सबसे खास रहा, जिसमें एएमयू छात्र-छात्राओं व अन्य रंगमंच जगत की अन्य गणमान्य हस्तियों ने टिकट लेकर ‘‘बादल सरकार’’ द्वारा लिखित नाटक ‘‘सारी रात’’ के दो शो का आनन्द उठाया। यह नाटक स्वयं ड्रामा क्लब के सचिन जाफर हसनैन ने निर्देशित किया जो कि अपनी प्रकार का अलीगढ़ में पहला नाटक था। प्रत्येक दिन की प्रस्तुतियों के बाद दर्शकों ने क्लब के छात्रों की खूब सराहना की।

 

थियेटर समाज का आइना

प्रोफेसर एफएस शीरानी कोऑर्डिनेटर कल्चरल एजूकेशन सेंटर ने कहा कि बच्चों ने पांच दिन लगातार बहुत मेहनत की, जिसका असर पूरे कैम्पस में देखने को मिला। इन पांच दिन की 39 प्रस्तुतियों की वजह से लोग जागरूक हुए। एएमयू ड्रामा क्लब के सचिव जाफर हसनैने ने कहा कि हमारा उददे्श्य समाज में हो रही बुराइयों से लोगों को जागरूक करना और अच्छाइयों को सामने लाना है। थियेटर समाज का आइना है।

Updated On:
06 Sep 2017, 10:34:00 AM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।