smart city ajmer : यहां सिर्फ अधिकारियों के लिए बनती है स्मार्ट सडक़ें

By: Himansu Dhawal

Updated On:
24 Aug 2019, 04:59:54 PM IST

  • शहर की सडक़ों का हाल

अजमेर. बरसात (rain) के कारण शहर की सडक़ें (road) बदहाल हैं। इनमें हुए बड़े-बड़े गड्ढों के कारण जनता परेशानी झेल रही है। वहीं दूसरी ओर इसके लिए जिम्मेदार अफसरों के घरों के बाहर (Outside Officers' Homes) सडक़ें चकाचक हैं। अफसरों के घर के बाहर सडक़ों पर ढूंढने से भी गड्ढे नजर नहीं आ रहे हैं। कई अफसरों के घर के बाहर तो वर्ष में दो बार निर्माण (Double build) तक हुआ है। शहर की सडक़ों को पीडब्ल्यूडी, नगर निगम तथा एडीए के बीच बांटा गया है। पीडब्ल्यूडी व नगर निगम की सडक़ों की हालत सर्वाधिक खस्ताहाल है, जिन पर यातायात संचालित होता है। सडक़ों से डामर गायब है। सडक़ पर गड्ढे हैं। इनके चारों ओर पत्थर व सडक़ की गिट्टियां बिखरी हुई हैं। एडीए की सडक़ें उसकी योजना क्षेत्र में हैं। इनमें से भी अधिकतर सडक़ें बदहाल हैं।

सिविल लाइन स्थित (Civil line located) संभागीय आयक्त एन. एल. मीणा के घर के बाहर सडक़ की स्थिति सही है। सिविल लाइन में ही कलक्टर विश्व मोहन शर्मा व आईजी संजीव नजर्री के आवास के बाहर भी सडक़ें सलामत हैं। टोडरमल लेन (todermal Lane) स्थित प्राधिकरण आयुक्त नमित मेहता के आवास के सामने सडक़ चमचमा रही है। सडक़ के दोनों ओर पानी निकासी के लिए नालियां भी बनी हुई हैं। बजरंगगढ़ के पास नगर निगम आयुक्त चिन्मयी गोपाल के आवास के बाहर सडक़ कुछ माह पहले नई बनी है।

Read more : पहले पत्नी को सुलाया और फिर खुद भी सो गया मौत की नींद,पढ़ें पूरी खबर

खाली भूखंडों में पानी भरने से लोग परेशान

अजमेर. बरसात के बाद खाली भूखंडों में पानी भरने से विज्ञान नगर के बाशिंदों के लिए मुश्किल खड़ी हो गई है। विज्ञान नगर (vigyaan nagar) की गलियों में खाली पड़े भूखंडों में पानी भरने से बीमारियों का अंदेशा पैदा हो गया। बदबू के कारण लोगों का जीना मुहाल हो रखा है। विज्ञान नगर के गुंजन बवेजा ने बताया कि मच्छर पैदा होने से कॉलोनी (colony) के बच्चे बीमार ( sick) हो रहे हैं। वहीं कई भूखंड से पानी निकलकर घरों (the houses) के बाहर जमा होने से आवाजाही में परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। इस संबंध में स्थानीय पार्षद उर्मिला गढ़वाल को ज्ञापन सौंपकर पानी निकासी की मांग की गई, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं होने से कॉलोनीवासी अब नगर निगम व जिला कलक्टर (district Collector) को ज्ञापन सौंपेंगे।

 

Updated On:
24 Aug 2019, 04:59:54 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।