Shamefull: पिता ने किया था बेटी से दुष्कर्म, 11 महीने बाद चढ़ा हत्थे

By: raktim tiwari

Updated On:
25 Aug 2019, 10:32:32 AM IST

  • पुलिस ने आरोपी को पॉक्सो एक्ट में गिरफ्तार किया है। गर्भपात कराने वाले चिकित्सक पर भी पुलिस की नजर है। उसके खिलाफ भी पुलिस अनुसंधान में जुटी है।

अजमेर.

नाबालिग से दुष्कर्म (rape witn minor) और गर्भपात (abortion) कराने वाले कलियुगी पिता को गेगल थाना पुलिस ने ग्यारह महीने बाद गिरफ्तार कर लिया। परिवार का मामले (family matter) होने से पुलिस को तहकीकात करने में मशक्कत करनी पड़ी। पुलिस ने आरोपी को पॉक्सो एक्ट (pocso act) में गिरफ्तार किया है। गर्भपात कराने वाले चिकित्सक पर भी पुलिस की नजर है। उसके खिलाफ भी पुलिस अनुसंधान में जुटी है।

गेगल थाना क्षेत्र में पिछले साल अक्टूबर में नाबालिग से दुष्कर्म हुआ था। इससे वह गर्भवती (pregnent ) हो गई। परिजनों ने मामला दबाने के लिए उसका गर्भपात भी करा दिया। तीन महीने तक गेगल थाने में दुष्कर्म का मामला दर्ज (police report) नहीं हुआ। अखबारों में मामला सामने आया तो गृह विभाग और पुलिस हरकत में आई। अतिरिक्त मुख्य सचिव गृह (additional chief secaratart home) राजीव स्वरूप ने संज्ञान लेकर तत्काल पुलिस अधीक्षक कुंवर राष्ट्रदीप (kunwar rashtradeep) को तत्काल जांच के निर्देश दिए। इसके बाद गेगल थाना पुलिस सक्रिय हुई।

read more: कांस्टेबल शारीरिक दक्षता परीक्षा में पकड़े चार ‘फर्जी’ अभ्यर्थी

परिवार ने दबाए रखा मामला
गेगल पुलिस ने छानबीन शुरू की, लेकिन परिवार ने मामले (family matter) को दबाए रखा। परिजनों ने पीडि़ता पर देवी-देवताओं का प्रकोप होने, बीमारी (illness) से ग्रस्त होने के तर्क दिए। गेगल थाना (gegal thana) राजेंद्र कमांडो ने मामले की तह में जाने के लिए सामाजिक और मनोवैज्ञानिक तरीका अख्यिार किया। परिजनों से पूछताछ (inquiry) के दौरान हर बार पीडि़ता (minor) की बीमारी और दैवीय प्रकोपक जानकारी मिली।

read more: Rape in ajmer : युवती को अगवा कर किया बलात्कार

महिला कांस्टेबल का लिया सहारा
पुलिस ने कोई कामयाबी नहीं मिलती देख महिला कांस्टेबल (women cops)का सहारा लिया। कांस्टेबल ने गांव की हथाई पर महिलाओं (discuss with women ) से बातचीत करना शुरू किया। महिलाओं को सामाजिक और परिवारिक रिश्तों (family matters), लगातार बढ़ते दुष्कर्म (rape) मामलों की दुहाई दी गई। इससे धीरे-धीरे महिलाएं उनसे घुल-मिल गई। धीरे-धीरे पुलिस और महिला कांस्टेबल पीडि़ता के परिजनों तक पहुंच गए।

read more: student union election: नाम वापसी को लेकर श्रमजीवी कॉलेज में हंगामा

सामने आई शर्मनाक करतूत
महिला कांस्टेबल और पुलिस ने पीडि़ता (minor) और उसकी मां (mother)को विश्वास में लेकर पूछताछ शुरू की। दोनों को भयग्रस्त देखकर पुलिस (police) को परिवार (family) के किसी सदस्य द्वारा दुष्कर्म करने का यकीन हो गया। पीडि़ता और उसकी मां ने एक-एक कर बातें बतानी शुरू की। इसमें नाबालिग का पिता (culprit father) द्वारा ही दुष्कर्म करना और क्लिनिक पर गर्भपात कराना बताया। यह सुनते ही पुलिसकर्मी भी हिल गए। उन्होंने सावधानी पूर्वक (alert) बातचीत की रिकॉर्डिंग (recording) और वीडियोग्राफी (vedigraphy) भी की। इसमें एक संगठन की भी अहम भूमिका रही।

read more: महिला उत्पीडऩ, बलात्कार की घटनाओं पर कांग्रेस सरकार को घेरा


नाबालिग से पिता द्वारा दुष्कर्म और गर्भपात मामले का खुलासा हुआ है। केस को मनोवैज्ञानिक तरीके से सुलझाया इसके चलते तह तक पहुंच सके। आरोपी को पॉक्सो एक्ट में गिरफ्तार किया गया है।

राजेंद्र कमांडो, थाना प्रभारी गेगल

Updated On:
25 Aug 2019, 10:32:32 AM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।