इस सदियों पुरानी घाटी में खामोश हुए महाराणा प्रताप, नहीं सुनाई देती चेतक की टाप

By: bhupendra singh

Published On:
Aug, 29 2017 08:06 AM IST

  • कारण चाहे जो हो लेजर शो देखने आने वाले दर्शकों को स्मारक से निराश लौटना पड़ रहा है।

शहर के प्रमुख पर्यटक स्थल के रूप में अपनी पहचान बना चुके पुष्कर घाटी स्थित महाराणा प्रताप स्मारक पर पिछले १४ दिन से थ्री-डी लेजर एंड लाइट शो बंद है। ठेकेदार का कहना है कि अजमेर विकास प्राधिकरण भुगतान नहीं कर रहा। वहीं एडीए प्रशासन का कहना है कि ठेकेदार के पास सॉफ्टवेयर अपडेट नहीं है। कारण चाहे जो हो लेजर शो देखने आने वाले दर्शकों को स्मारक से निराश लौटना पड़ रहा है।

२.३१ करोड़ का है प्रोजेक्ट

इस प्रोजेक्ट पर २ करोड़ ३१ लाख रुपए खर्च हुए। जोधपुर की कम्पनी दरा कंस्ट्रक्शन को लेजर शो का तीन साल का संचालन व मेंटीनेंस का ठेका दिया गया था। तीस फीसदी भुगतान रोका गया था। इसी बकाया भुगतान को लेकर कम्पनी ने शो का संचालन बंद किया है। स्मारक व थ्री-डी लेजर लाइट शो का उद्घाटन पिछले साल १४ अगस्त को मुख्यमंत्री ने किया था।

यह देखने को मिलता है शो में

महाराणा प्रताप स्मारक पर प्रताप के जीवन, चित्तौड़ से पलायन, हल्दीघाटी के मैदान का राजपूतों एव मुगलों के बीच हुए भीषण युद्ध, प्रताप के घोड़े चेतक के बलिदान की गाथा को लेजर शो के जरिए स्मारक के सामने पहाड़ी पर प्रदर्शित किया जाता है। करीब ३० मिनट की स्क्रिप्ट में लेजर शो के जरिए पहाड़ी पर प्रताप और पृथ्वीराज की जीवन गाथा के साथ ही अजमेर पुष्कर की धार्मिक नगरी का भी चित्रण होता है। महाराणा प्रताप की गौरव गाथा,अजमेर तथा पुष्कर का इतिहास तथा संस्कृति को शामिल करते हुए इसका प्रदर्शन किया जाता है।

हमें सपोर्ट नहीं मिल रहा है। ७०-८० लाख रुपए बकाया है। हमें पैसा नहीं मिलेगा तो कैसे चलाएंगे। टेक्नीकल इश्यू है, मेंटीनेंस हमारे पास है। एडीए से बात करेंगे।

-धर्मेश विश्नोई, दरा कंस्ट्रक्शन कम्पनी, जोधपुर

कम्पनी का सॉफ्टवेयर रिन्यू नही हैं। कम्पनी को पहले भी भुगतान किया गया है, अभी भी प्रोसेस में है। शो का संचालन नहीं रोकना चाहिए। नोटिस दिया है।

-सुरेश बेनीवाल, एक्सईएन (इलेक्ट्रिक) एडीए

 

Published On:
Aug, 29 2017 08:06 AM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।