साथ जीएंगे-साथ मरेंगे...और फंदे पर झूल गए

By: suresh bharti

|

Updated: 13 Aug 2019, 12:36 AM IST

Ajmer, Ajmer, Rajasthan, India

अजमेर. प्रेम-मोहब्बत का जुनून ही ऐसा होता है कि इसमें अच्छा-बुरा कुछ नजर ही नहीं आता। तभी तो कहा जाता है कि प्रेम अंधा होता है। इश्क की कोई आयु नहीं होती। मोहब्बत के लिए अल्पायु या ढलती उमरिया बाधक नहीं होती। यदि कोई इसमें सफल हो गया तो जीवनभर साथ रहेंगे। यदि धोखा मिला या पारिवारिक अड़चन आ गई।

समाज व धर्म की दीवार बाधक बन गई तो आत्महत्या जैसा कदम भी उठाया जाता रहा है। घर से भागकर शादी करने का जरिया भी है,लेकिन सारे रास्ते बंद हो जाएं तो प्रेमी जोड़ा इस दुनिया से विदा होना ही मुनासिब समझता है। मोहब्बत करने वालों की दुनिया ही निराली है।

अजमेर जिले के मसूदा उपखंड स्थित ग्राम कुपाबावड़ी में युवक-युवती फंदे पर झूलते मिले। यह खबर पूरे गांव में आग की तरह फैल गई। प्रेमी युगल के आत्महत्या की खबर के बाद बड़ी संख्या में ग्रामीण मौके पर जमा हो गए। इस दौरान मृतक युवक की पहचान सनवर पुत्र शकूर के रूप में की गई है। मृतका समीप के सालमपुरा गांव की निवासी है।

दोनों के बीच काफी समय से प्रेम संबंध बताए। इस बात की जानकारी इनके घर वालों को भी थी। लोगों की मानें तो दोनों शादी करना चाहते थे,लेकिन परिजन का विरोध था। काफी समय से दोनों छिप-छिपकर मिलते रहे। लोगों ने कई बार दोनों को साथ भी देखा।

प्रेमी युगल के परिजन को यह नागवार गुजर रहा था। उधर,दोनों का प्रेम सिर चढक़र बोलता रहा। दोनों ने साथ मरने और जीने की कसमे खाई। आखिर कोई रास्ता नहीं मिलने पर दोनों ने आत्महत्या करने का रास्ता चुना।

थानाधिकारी शमशेर खान के अनुसार आत्महत्या को संदिग्ध मानकर जांच की जा रही है। परिजन के बयान दर्ज किए गए हैं। प्रेमी युगल के आत्महत्या को लेकर एफएसएल की टीम व पुलिस ने घटनास्थल की बारीकी से जांच की है। मौके से कुछ साक्ष्य भी जुटाए हैं।

 

 

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।