उम्मीद नहीं थी इस तरह टूट जाएगा हमारा सपना

By: dinesh sharma

Published On:
Jul, 11 2019 04:47 AM IST

  • दो दिन चला वन-डे फिर भी हाथ लगी हार, दो कदम दूर रहे गया भारतीय क्रिकेट टीम से वल्र्ड कप, समीफाइनल में न्यूजीलैंड टीम से मिल हार, अजमेर के खेलप्रेमियों में निराशा, भारत की जीत के लिए किए थे हवन और दुआ

दिनेश शर्मा, अजमेर.

अजमेराइट्स ने सोचा नहीं था कि लीग दौर से अजेय चल रही भारतीय क्रिकेट टीम की जीत का सफर सेमीफाइनल में न्यूजीलैंड टीम से हार के साथ इस तरह थम जाएगा। उन्होंने तो जीत का जश्न मनाने के लिए पटाखे तक जमा कर रखे थे।

भारत के विश्व विजेता बनने की आस में टीम की जीत के लिए उन्होंने हवन और दुआ में भी कोई कसर नहीं छोड़ी थी। उनके इस विश्वास का कारण था विराट सेना का लीग चरण में ग्रुप में टॉप पर रहना। ऐसे में शहर के खेलप्रेमियों को उम्मीद थी विराट के धुरंधर एक बार फिर भारत को वल्र्ड कप दिलाकर ही लौटेंगे।

इस विश्वास के पीछे थीं हिटमैन रोहित की शतकीय पारियां और बुमराह की गुमराह करतीं गेंदें, लेकिन नियती को तो कुछ और ही मंजूर था।

सेमीफाइन में कीवियों के सामने ने रोहित और विराट का बल्ला चला न बारिश ही राहत बनकर बरसी। क्योंकि बारिश से मैच धुल जाने की स्थिति में भी अधिक अंकों से सेमीफाइनल में पहुंचने के कारण भारत सीधे फाइनल में प्रवेश कर जाता।

बहरहाल शहरवासियों की भारत के विश्व विजेता बनने की आस बुधवार को उस समय अधूरी रह गई जब भारत को न्यूजीलैंड के हाथों 18 रन से हार का सामना करना पड़ा। शहर के खेलप्रेमियों ने सेमीफाइनल देखने के लिए कई जगह बड़ी स्क्रीन का इंतजाम भी किया था।

क्यों परवान चढ़ी थीं उम्मीदें

इससे पूर्व शहर के खेलप्रेमियों की उम्मीदें तब परवान चढ़ीं जब भारत ने पाकिस्तान के खिलाफ अजेय रहते हुए एक बार फिर उसे पटखनी दी। यही नहीं आस्ट्रेलिया, साउथ अफ्रीका, वेस्ट इंडीज जैसे मजबूत टीमों के सामने भी मजबूती दिखाई। भारतीय टीम लीग चरण ग्रुप में टॉप पर रहने हुए पूरा किया। इसमें उसे न्यूजीलैंड के खिलाफ बारिश से प्रभावित मैच में एक अंक बांटना पड़ा था।

READ MORE : ताश के पत्तों की तरह ढह गई अजमेराइट्स की आस

बारिश ने एक बार फिर दोनों टीमों के बीच मुकाबले को प्रभावित किया और सेमीफाइनल में उस समय मैच रोकना पड़ा जब न्यूजीलैंड 46.1 ओवर में 5 विकेट के नुकसान पर 211 रन बना चुकी थी। दूसरे दिन खेले गए शेष मैच में न्यूजीलैंड ने 8 विकेट के नुकसान पर 229 रन बनाए और विराट सेना 221 रन ही बना सकी और उसका विश्व कप का सफर यहीं थम गया।

ऐसे में पटाखे खरीदकर जीत के जश्न में आतिशबाजी की आस लगाए बैठे अजमेराइट्स को भी निराशा ही हाथ लगी। दोपहर तीन बजे से ही टीवी से चिपके बैठे खेलप्रेमी इस हार को लम्बे समय नहीं भुला सकेंगे, जिसमें लीग चरण के विजयी सफर का दुखंत अंत हुआ।

न्यूजीलैंड फाइनल में

मैनचेस्टर.  शीर्ष क्रम के बल्लेबाजों की नाकामी के कारण भारत को आइसीसी विश्वकप के सांसों को रोक देने वाले पहले सेमीफाइनल में न्यूजीलैंड के हाथों 18 रन की हार का सामना करना पड़ा और इसके साथ ही टीम विश्वकप से बाहर हो गई।

न्यूजीलैंड ने जीत के साथ लगातार दूसरी बार विश्वकप के फाइनल में जगह बना ली। भारत की हार के साथ ही करोड़ों भारतीयों का सपना एक झटके में टूट गया। वर्षा बाधित इस सेमीफाइनल में न्यूजीलैंड ने 50 ओवर में आठ विकेट पर 239 रन का चुनौतीपूर्ण स्कोर बनाया और इसका पीछा करते हुए भारतीय टीम खराब शुरुआत से उबर नहीं पायी।


रवींद्र जडेजा ने बेशक 77 और महेंद्र ङ्क्षसह धोनी ने 50 रन बनाए और सातवें विकेट के लिए 116 रन की साझेदारी की लेकिन इनके अंतिम ओवरों में आउट होते ही भारत की उम्मीदें टूट गईं। भारत 49.3 ओवर में 221 रन ही बना सका।

भारत लगातार दूसरे विश्वकप में सेमीफाइनल में बाहर हुआ। न्यूजीलैंड ने इस जीत के साथ लगातार दूसरे विश्वकप के फाइनल में जगह बना ली। न्यूजीलैंड ने 2015 के विश्वकप में सेमीफाइनल में द. अफ्रीका को हराया था।

 

Published On:
Jul, 11 2019 04:47 AM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।