Crime news: लुटेरों की अजमेर पर नजर, लगातार बढ़ रहे मामले

By: raktim tiwari

Updated On:
14 Aug 2019, 07:14:00 AM IST

  • अभय कमांड सेंटर पर विभिन्न एंगल से कैमरे की डिटेल चेक की गई। घटना हुए एक सप्ताह बीत चुका है, लेकिन लूट का खुलासा नहीं हुआ है।

अजमेर.

लुटेरे धीरे-धीरे अजमेर पर नजरें गढ़ा रहे हैं। इसके चलते लूट (loot), डकैती (dacoity) और हत्या (murder) के मामले लगातार बढ़ गए हैं। पुलिस के लिए लुटेरे और गैंगस्टर (gangster) चुनौती बन चुके हैं। चार जिलों का रेंज कार्यालय (range office), अभय कमांड सेंटर (abhay command center) जैसे अत्याधुनिक साधनों के बावजूद अपराधी बेधडक़ अपराध अंजाम देने में जुटे हैं।

नहीं हुआ लूट का खुलासा
3 अगस्त को चीनी के थोक विक्रेता रमेशचंद परियानी (69) से लूट (loot in ajmer) की वारदात हुई थी। बाइक सवार लुटेरों ने रात्रि करीब 8 बजे सावित्री चौराहा-बीएसएनएफ दफ्तर के निकट उनकी कार को टक्कर मारी थी। दोनों ने उनह्ें कार ढंग से नहीं चलाने और पैर पर टायर (tyre) चढ़ाने की बात कहते हुए बातों में उलझाया। इस दौरान दो लुटेरे ड्राइवर साइड का कांच तोडकऱ (glass)सीट के नीचे रखा 4.60 लाख रुपए का बैग निकालकर भाग गए थे। अभय कमांड सेंटर पर विभिन्न एंगल से कैमरे की डिटेल चेक की गई। घटना हुए एक सप्ताह बीत चुका है, लेकिन लूट का खुलासा नहीं हुआ है।

read more: Accident-डिवाइडर से टकरा कर पलटी कार, एयरबेग खुले तो बची जान

व्यापारी को मारी गोली, छीनी कार
शनिवार को नोएडा के व्यापारी (businessman) योगेश रॉय और निखिल रॉय सिरोही से आ रहा था। उसका रामगंज- बडग़ांव के निकट उन्हें अज्ञात लुटेरों ने रोका। वे बंदूक की नोक पर दोनों को आदर्श नगर में सुनसुान इलाके में ले गए। लुटेरों ने योगेश की जांघ पर फायर (gun fire) कर दिया। जिससे गोली उसके जांघ से घुसकर निकल गई। लुटेरे उनकी डस्टर कार, लेपटॉप (laptop)चुराकर भाग गए। पुलिस (police) लुटेरों की तलाश कर रही है।

read more: sim Seizures case : गैंगस्टर लॉरेंस विश्नोई सहित तीन बरी

ले उड़े थे 10 लाख रुपए
15 मार्च 19 को जयपुर रोड स्थित एक होटल (hotel)के मालिक विजय जैन की लग्जरी कार खड़ी थी। लुटेरे दिनदहाड़े कार का शीशा तोडकऱ 10 लाख रुपए (10 million rupees) का बैग ले उड़े थे। इस दौरान उर्स में आए खुफिया अधिकारी होटल में ठहरे हुए थे। शहर के इस इलाके में हमेशा चहल-पहल रहती है। इसके बावजूद लुटेरों ने वारदात (incident)कर डाली थी।

read more: tripple talaq bill : ट्रिपल तलाक अधिनियम में पहला मामला दर्ज

मनी एक्सचेंज व्यापारी की हत्या
21 फरवरी 19 को मनी एक्सचेंज व्यवसायी (money exchanger) मनीष मूलचंदानी की दुकान पर एक गैंग में शामिल लुटेरे दिनदहाड़े कैश लूटकर भाग गए थे। मनीष के लुटेरों को पकडऩे का प्रयास करते देख सरगना रणजीत (रणसा) ने उस पर फायर (firing) कर दिया था। इससे मनीष की तत्काल मौत (death) हो गई। बीती 16 जुलाई को पुलिस ने गैंग के गुर्गों को गिरफ्तार किया है।

 

Updated On:
14 Aug 2019, 07:14:00 AM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।