वडोदरा में बनेगा हाई स्पीड रेल ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट

Mukesh Sharma

Publish: Sep, 12 2017 10:45:00 (IST)

Ahmedabad, Gujarat, India

देश का सबसे महत्वाकांक्षी बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट गुरुवार को साबरमती रेलवे ग्राउंड पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और जापानी प्रधानमंत्री शिंजो आबे की ओर

अहमदाबाद।देश का सबसे महत्वाकांक्षी बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट गुरुवार को साबरमती रेलवे ग्राउंड पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और जापानी प्रधानमंत्री शिंजो आबे की ओर शिलान्यास करने के बाद पटरी पर चढ़ जाएगा। यह ऐसा प्रोजेक्ट होगा, जिससे करीब बीस हजार लोगों को रोजगार मिलेगा। वहीं वडोदरा में हाई स्पीड रेल ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट बनेगा, जो पूर्णत: साधनों और सुविधाओं से सुसज्जित होगा। जिस तरीके से जापान के ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट में सिम्युलेटर है वैसे ही सिम्युलेटर इस इंस्टीट्यूट में होगा। रेल मंत्री पियूष गोयल ने सोमवार को दिल्ली में एक संवाददाता सम्मेलन में यह जानकारी दी।

1.10 लाख करोड़ का है प्रोजेक्ट

अहमदाबाद-मुंबई हाई स्पीड रेल प्रोजेक्ट एक लाख 10 हजार करोड़ रुपए का है, जिसमें जापान सरकार के लिए 0.1. फीसदी की दर से 88 हजार करोड़ रुपए ऋण देगी, जो पचास वर्षों में भुगतान करना होगा।

बुलेट ट्रेन का पहला अहमदाबाद-मुंबई के बीच 508 किलोमीटर है, जिसमें बारह स्टेशन होंगे। यह सफर दो घंटे 58 मिनट में तय होगा।
दस कोचों में 750 यात्रियों की होगी क्षमता

बुलेट ट्रेन की गति 320 से अधिकतम गति 350 किलोमीटर प्रति घंटे होगी। यह ट्रेन 92 फीसदी हिस्से एलीवेटेड होगी, छह फीसदी टनल और दो फीसदी जमीन पर दौड़ेगी। शुरुआती दौर में 10 कार बुलेट ट्रेन प्रस्तावित हैं, जिसकी क्षमता 750 यात्रियों की होगी। बाद में 16 कार बुलेट ट्रेन लगाने का प्रस्ताव हैं, जिसमें 1250 यात्रियों की बैठने की क्षमता होगी।

जापान-गुजरात मिलकर बनाएंगे इंस्टीट्यूट ऑफ मैन्युफेक्चरिंग

गांधीनगर ञ्च पत्रिका . जापान एवं गुजरात मिलकर इंस्टीट्यूट ऑफ मेन्युफैक्चरिंग का निर्माण करेंगे। इस संदर्भ में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी एवं जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे की उपस्थिति में गुरुवार को समझौता हस्ताक्षर किए जाएंगे।

गुजरात में औद्योगिक पूंजी निवेश को गतिशील बनाने में अत्यन्त महत्वपूण साबित होने वाले वैश्विक स्तर के इस इन्स्टीट्यूट में आगामी दस सालों में 30 हजार युवाओं को औद्योगिक प्रशिक्षण देने की केंद्र की योजना है। प्राथमिक चरण में गणपत यूनिवर्सिटी, महेसाणा के 500 विद्यार्थियों को पांच ट्रेड में प्रशिक्षण के लिए चयन किया गया है, जिन्हें जापानी शिक्षा प्रणाली के अनुसार जापानी विशेषज्ञ प्रशिक्षण देंगे।

Web Title "High speed rail training institute will be built in Vadodara"