गुजरात : भाजपा ने 10 ओबीसी व 6 पाटीदारों को मैदान में उतारा

By: Uday Kumar Patel

Published On:
Apr, 05 2019 03:17 PM IST

  • -लोकसभा चुनाव में जातिगत समीकरण

 

उदय पटेल

अहमदाबाद. लोकसभा चुनाव को लेकर कांग्रेस की तरह भाजपा ने भी ओबीसी के साथ-साथ पाटीदारों पर दाव खेला है। गुजरात में ओबीसी समुदाय की लगभग 52 फीसदी आबादी होने के कारण भाजपा ने करीब 10 उम्मीदवारों को चुनावी मैदान में उतारा है वहीं पाटीदारों का वोट खींचने के लिए 6 पाटीदारों को अपना प्रत्याशी बनाया है। इस तरह पार्टी ने सबसे ज्यादा ओबीसी और फिर पाटीदारों को टिकट दिया है।
ओबीसी उम्मीदवारों में तीन कोळी -डॉ महेन्द्र मुंजपरा, राजेश चुडास्मा, डॉ भारतीबेन शियाल कोली समुदाय से हैं। इसके अलावा चार ठाकोर, एक चौधरी, एक आहिर व एक दर्जी हैं।
भाजपा के छह पाटीदार उम्मीदवारों में रमेश धड़ुक (पोरबंदर), मितेश पटेल (आणंद), मेहसाणा (शारदा पटेल (मेहसाणा), मोहन कुंडारिया (राजकोट), नारण काछडिया (अमरेली) व हसमुख पटेल (अहमदाबाद पूर्व) शामिल हैं। इनमें से 2 लेउवा पाटीदार हैं और चार कडवा पाटीदार हैं।
छह पाटीदारों में से आणंद सीट को छोडक़र सभी सीटों पर आमने-सामने पाटीदार प्रत्याशी हैं। पिछले चुनाव पर गौर करें तो कांग्रेस ने जहां चार वहीं भाजपा ने पांच पाटीदारों को उतारा था।
अमित शाह के रूप में एक वणिक और रंजनबेन भट्ट के रूप में एक मात्र ब्राह्मण उम्मीदवार को उतारा है। दीप सिंह राठौड़ व देवूसिंह चौहाण के रूप में दो क्षत्रिय उम्मीदवार हैं। राज्य में चार सीटें-दाहोद, छोटा उदेपुर, बारडोली व वलसाड- आदिवासियों के लिए सुरक्षित है वहीं दो सीटें-कच्छ व अहमदाबाद पश्चिम-अनुसूचित जाति के लिए सुरक्षित हैं।

Published On:
Apr, 05 2019 03:17 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।