गुजरात सरकार स्थापित करेगी 9 नई जीआईडीसी

By: Uday Kumar Patel

Published On:
Sep, 12 2018 11:16 PM IST


  • -१०५०.३२ हेक्टेयर जमीन का आवंटन

गांधीनगर. राज्य सरकार ने राज्य में 9 नए इंडस्ट्रियल एस्टेट स्थापित किए जाने को लेकर 1050.30 हेक्टेयर जमीन आवंटित करने का निर्णय लिया है।

राजस्व मंत्री कौशिक पटेल ने बताया कि राज्य सरकार इसके लिए गुजरात औद्योगिक विकास निगम (जीआईडीसी) को जमीन आवंटित करेगी। इनमें पाटण जिले के वागोसणा के लिए 51.46 हेक्टेयर, मेहसाणा जिले के ऐठोर के लिए 47 हेक्टेयर, आणंद जिले के इंद्रणज के लिए 40.19 हेक्टेयर, मोरबी जिले के छत्तर के लिए 24.69 हेक्टेयर, सुरेन्द्रनगर जिले के वणोद के लिए 371.60 हेक्टेयर, भावनगर जिले के नवा माढिया के लिए 300 हेक्टेयर और गांधीनगर जिले के भाट के लिए निर्मित होने वाले जीआईडीसी के लिए 7.50 हेक्टेयर जमीन आवंटित करने का निर्णय लिया है।
इस आवंटित जमीन में से 70 फीसदी जमीन बाजार कीमत के 50 फीसदी तथा शेष 30 फीसदी जमीन वर्तमान बाजार कीमत के अनुसार जीआईडीसी को दिया जाएगा। जीआईडीसी की ओर से छोटे उद्योगपतियों को तय की गई कीमत के 50 फीसदी भाव से प्लॉट आवंटित किया जाएगा।
मंत्री पटेल ने कहा कि राज्य में उद्योगपतियों को प्रोत्साहन देने के लिए राज्य सरकार ने कई योजना बनाई है। नई जीआईडीसी के निर्माण से ज्यादा रोजगार उपलब्ध होगा। साथ ही लघु, सुक्ष्म व मध्यम उद्योगों (एमएसएमई) को ज्यादा प्रोत्साहन मिलेगा। इसके परिणामस्वरूप रोजगारी के कारण गुजरात देशभर में रोजगार उपलब्ध कराने में आगे रहा है।

तीन नए नवोदय विद्यालय के लिए जमीन आवंटित

अहमदाबाद. राजस्व मंत्री कौशिक पटेल ने कहा कि राज्य सरकार ने नवनिर्मित तीन जिलों में नवोदय विद्यालय के निर्माण के लिए 36.42 हेक्टेयर जमीन के आवंटन का निर्णय लिया है। इनमें बोटाद जिले के बोटाद में, मोरबी जिले के कोठारिया में तथा देवभूमि द्वारका जिले के धतुरिया में नवोदय विद्यालय स्थापित किया जाएगा। इन सभी विद्यालयों को 12.14 हेक्टेयर सहित कुल 36.42 हेक्टेयर जमीन आवंटित किया जाएगा।

 

राजकोट जिले में नया इनलैण्ड कंटनेर डेपो

उधर राजकोट जिले के परापिपलिया में इनलैण्ड कंटेनर डिपो का निर्माण किया जाएगा। इस डिपो का विकास करने के लिए भारतीय कंटनेर निगम लिमिटेड, अहमदाबाद को 12.55 हेक्टेयर जमीन वर्तमान नीति के तहत आवंटित की जाएगी। माल के परिवहन के लिए कंटेनरों के लोडिंग के लिए रेल साइडिंग, कंटेनर यार्ड, आयात-निर्यात कार्गो वेयर हाउस, कंटेनर एंड कार्गो हैंडलिंग, कस्टम विभाग, कंटेनर रिपेयर वर्कशॉप सहित कई सुविधा होगी।

 

Published On:
Sep, 12 2018 11:16 PM IST

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।