> > > >Bus announced by the government for the school Bhamashah

सरकारी स्कूल के लिए भामाशाह ने की बस देने की घोषणा

2016-04-27 22:49:24


सरकारी स्कूल के लिए भामाशाह ने की बस देने की घोषणा
सीकर/खाटूश्यामजी. हनुमानपुरा की राजकीय उच्च प्राथमिक स्कूल में बेहतर नामांकन के लिए एक भामाशाह ने अनूठी पहल की है। दूरदराज के बच्चों को स्कूल से जोडऩे के लिए भामाशाह महेश कुमार पिपलवा ने मंगलवार को स्कूल को मिनी बस देने की घोषणा की है। पत्रिका के नींव अभियान से प्रेरित शिक्षकों की मांग पर पिपलवा ने यह घोषणा एसएमसी (स्कूल मैनेजमेंट कमेटी ) की बैठक में की है।

आदर्श है हनुमानपुरा का स्कूल
हनुमानपुरा स्कूल दांतारामगढ़ के उत्कृष्ट स्कूलों में शामिल है। कक्षा एक से आठ में 316 बच्चों के नामांकन के साथ यहां बेहतर साधन- संसाधन हैं।

संस्था प्रधान कालूराम स्वामी ने बताया कि भामाशाहों के सहयोग से स्कूल में 20 में से 14 कमरे बने हैंं। 24 घंटे बिजली देने वाला एक लाख 70 हजार रुपए का सोलर प्लांट लगा है। आठ कम्प्यूटर की लैब, पानी की टंकी, वाटर कूलर व चार बीघा खेल मैदान है।

कक्षा चार से आठ तक के लिए फर्नीचर व पढऩे के लिए शिक्षण सामग्री है। यही नहीं यहां के दर्जनों बच्चे राज्य व राष्ट्रस्तरीय खो- खो प्रतियोगिता में शामिल हो चुके हैं। एक छात्रा तो राष्ट्रीय टीम की उप कप्तान भी रह चुकी है।

नई यूनिफॉर्म की...
स्कूल में नवाचार के तौर पर अब निजी स्कूल की तर्ज पर नई यूनिफॉर्म लागू करने की कवायद चल रही है। प्रवेशोत्सव प्रभारी राजेन्द्र कुमार सरोज ने बताया कि इसके लिए एसएमसी की आगामी बैठक में प्रस्ताव लिया जाना प्रस्तावित है। स्कूल में अंग्रेजी स्पोकन कक्षाएं संचालन की योजना भी है। हालांकि, यहां सप्ताह में दो दिन बच्चे अब भी अंग्रेजी में ही प्रतिज्ञा बोलते हैं।

भामाशाह का सम्मान
स्कूल के लिए बस की घोषणा करने पर भामाशाह पिपलवा को स्कूल में सम्मानित भी किया गया। इस दौरान गांव के वार्ड पंच भगवान सहाय सामोता, प्रभातीलाल शर्मा, हरि प्रसाद शर्मा,गौरीशंकर मीणा, प्रभुदयाल, निजामुद्दीन आदि ने माला व साफा पहनाकर भामाशाह का अभिनंदन किया।

नींव अभियान से मिली प्रेरणा
राउप्रावि हनुमानपुरा, प्रवेशोत्सव प्रभारी, राजेन्द्रकुमार सरोज कहते हैं कि पत्रिका के नींव अभियान से प्रेरणा पाकर स्कूल में नामांकन बढ़ाने के लिए हमने एसएमसी की बैठक में भामाशाह महेश कुमार पिपलवा के सामने वाहन सुविधा का प्रस्ताव रखा। जिसे उन्होंने तुरंत स्वीकार करते हुए मिनी बस व शिक्षण सामग्री देने की घोषणा कर दी।
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मॅट्रिमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !

LIVE CRICKET SCORE

पत्रिका एंड्राइड और आई फ़ोन एप डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

X