> > > > mayawati, akhilesh and now adityanath yogi cabinet not importance agra women mla never got minister news in hindi

इस जिले को कभी नहीं मिली महिला मंत्री, पहली बार जीतीं दो महिलाएं

2017-03-20 15:00:41


इस जिले को कभी नहीं मिली महिला मंत्री, पहली बार जीतीं दो महिलाएं
आगरा। पश्चिम उत्तर प्रदेश आगरा में कभी भी महिला को प्रदेश के मंत्रिमंडल में जगह नहीं मिली। यह बात जरूर दीगर है कि यहां महिलाएं चुनाव में हार जाती थीं। इसबार भाजपा से दो महिलाएं विधानसभा चुनाव जीत कर आई हैं लेकिन उन्हें मंत्रिमंडल में जगह नहीं मिली। जिले के लोगों में यह बात चल रही है कि महिलाओं को मंत्रिमंडल में जगह क्यो नहीं मिली। इस बात को लेकर पूरे जिले में उनके समर्थकों में रोष है।
यहां से जीतीं हैं महिलाएं
आगरा ग्रामीण विधानसभा सीट से पहली बार भाजपा ने जीत की दर्ज और पहली बार इस सीट पर महिला प्रत्याशी की जीत हुई है। भाजपा की हमेलता दिवाकर को 129887 मत मिले उन्होंने लगभग 50 हजार मतों से जीत दर्ज की। बसपा के कालीचरण सुमन को 64591 मत मिले जो दूसरे नंबर पर और कांग्रेस के उपेन्द्र सिंह तीसरे नंबर पर रहे उन्हें कुल 31312 मत मिले। वहीं दूसरी सीट बाह पर पहली बार महिला प्रत्याशी को जीत मिली है। भाजपा की प्रत्याशी रानी पक्षालिका सिंह को 80567 मत मिले। बसपा के मधुसूदन शर्मा को 57427 मत और सपा की अंशू निषाद को 46885 मत मिले जो तीसरे नंबर पर रहीं ।
यह थी स्थिति
आगरा जिले में कुल नौ विधान सभा सीटें है। जिनपर पिछली बार कोई महिला चुनाव जीत कर नही आ सकी। मसलन, आगरा से कोई महिला विधायक सदन में नहीं पहुंची। इस बार भी बसपा ने सभी सीटों के लिए प्रत्याशियों की घोषणा कर दी है लेकिन किसी महिला प्रत्याशी को मैदान में नहीं उतारा है। जबकि बसपा की राष्टठीय अध्यक्ष खुद ​महिला है। वहीं सपा, कांग्रेस और भाजपा ने महिला प्रत्याशियों को अवसर दिया है। जानिए पूरी हकीकत।
ये थींं मैदान मेंं
कांग्रेस ने खैरागढ़ विधानसभा सीट से कुसुमलता दीक्षित को प्रत्याशी बनाया था। वहीं भाजपा ने दो महिला प्रत्याशियों को मैदान में उतारा है। बाह विधान सभा सीट से रानी पक्षालिका सिंह और आगरा सुरक्षित से हेमलता दिवाकर को टिकट दिया था । वहीं सपा ने दो महिला प्रत्या​शियों को मैदान में उतारा है। आगरा छावनी से ममता टपलू और बाह से अंशू देवी निषाद को ​उम्मीदवार बनाया था । बसपा ने सभी सीटों पर पुरुष प्रत्याशी के नामों की घोषणा की थी।
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मॅट्रिमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !

Related News

लगातार आठवीं बार विधानसभा चुनाव जीतने वाले इस विधायक को पहली बार कैबिनेट मंत्री का ताज

यहां हार गए दिग्गज मुस्लिम नेता, तीन बार भी जीत चुके थे चुनाव 

शहरवासियों फिर से तैयार हो जाइए आप को करना होगा मतदान और बनानी होगी शहर की सरकार 

इस जिले मेें बसपा का पांच बार हो चुका है सूपड़ा साफ, जानिए हकीकत 

बसपा का यह  'रोने वाला' नेता अब न घर का हुआ और न घाट का 

यूपी में सपा के हारने की मुख्य वजहें, मुलायम के गढ़ में क्यों मिली बड़ी हार ?

LIVE CRICKET SCORE

पत्रिका एंड्राइड और आई फ़ोन एप डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

X