> > > >Governments obligation to stop the commercialization of medicine

चिकित्सा का व्यवसायीकरण रोकना सरकार का दायित्व

2017-03-21 05:42:08


चिकित्सा का व्यवसायीकरण रोकना सरकार का दायित्व
बेंगलूरु।निजी क्षेत्र के अस्पतालों में स्वास्थ्य चिकित्सा क्षेत्र का बढ़ता व्यवसायीकरण चिंताजनक है। इसे रोकने के लिए समाज के सभी वर्गों को सरकार से सहयोग करना होगा। स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री केआर रमेश कुमार ने यह बात कही।

विधान परिषद में प्रश्नकाल के दौरान कांग्रेस के श्रीनिवास माने के सवाल के जवाब में मंत्री ने कहा कि चिकित्सा से मना करने वाले किसी भी अस्पताल को बख्शा नहीं जाएगा। स्वास्थ्य चिकित्सा क्षेत्र में एक संगठित माफिया चल रहा है। यह माफिया खुद को सरकार से अधिक ताकतवर समझता है। लेकिन सरकार उसके आगे नहीं झुकेगी और चिकित्सा के नाम पर लूट की छूट नहीं दी जाएगी।

उन्होंने कहा कि सरकार ने यशस्विनी, वाजपेयीश्री समेत विभिन्न चिकित्सा योजनाओं के तहत चिकित्सा के लिए निजी क्षेत्र के अस्पतालों को 600 करोड़ रुपए से अधिक राशि का भुगतान किया है। अब केवल 30 करोड़ रुपए का भुगतान बाकी है। इस राशि का भुगतान नहीं करने तक निजी क्षेत्र के कुछ अस्पतालों ने सरकारी योजनाओं के अंतर्गत मरीजों को चिकित्सा नहीं देने की धमकी दी है। लेकिन सरकार निजी अस्पतालों की मनमानी के सामने नहीं झुकेगी। जो अस्पताल इलाज से मना करेंगे उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।
मंत्री के बयान पर आपत्ति करते हुए नेता प्रतिपक्ष के.एस.ईश्वरप्पा ने कहा कि कई निजी अस्पताल सरकारी अस्पतालों से भी बेहतर सेवा दे रहे हैं। निजी क्षेत्र के सभी अस्पतालों को खारिज करना ठीक नहीं है। इस पर मंत्री ने कहा कि निस्संदेह निजी क्षेत्र के कुछ अस्पताल सामाजिक सरोकार को ध्यान में रखते हुए बेहतरीन सेवाएं दे रहें हैं। ऐसे अस्पतालों को सरकार बधाई देती है लेकिन इस वास्तविकता से भी इनकार नहीं किया जा सकता कि कारर्पोरेट शैली के कुछ अस्पतालों में अनावश्यक परीक्षण कराने और अधिक से अधिक फीस वसूलने की होड़ लगी है। इस पर अंकुश लगाया जाना चाहिए। भाजपा के सदस्य रामचंद्रगौडा ने मंत्री के बयान का समर्थन करते हुए कहा कि निजी क्षेत्रों की इस मनमानी रोकने के लिए कड़े कदम उठाने चाहिए तथा ऐसे कड़े फैसलों का विपक्ष को समर्थन करना चाहिए।

नियुक्ति आदेश नहीं मान रहे डॉक्टर

कांग्रेस के सदस्य बोसराज के सवाल के जवाब में मंत्री ने कहा कि आबादी के अनुपात में कई जिलों में प्राथमिक चिकित्सा केंद्रों की संख्या कम है। रायचूर जिले में 55 प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र है अभी इनमे से 49 चिकित्सा केंद्रों में चिकित्सकों की नियुक्ति की गई है। बाकी के 6 चिकित्सा केंद्रों में चिकित्सक की नियुक्ति की प्रक्रिया इसी सप्ताह पूरी होगी। जिले के 4 तहसील चिकित्सा केंद्रों में 45 विशेष चिकित्सकों में से 22 पद रिक्त है। इन पदों के लिए कर्नाटक लोक सेवा आयोग के माध्यम से चयन होने के बावजूद कई विशेष चिकित्सक (सर्जन) रायचूर, बीदर कोप्पल जैसे केंद्रों में सेवा से इनकार कर रहे हैं। चिकित्सकों को मासिक 1 लाख 25 हजार का वेतन निशुल्क आवास जैसी सुविधाओं का आश्वासन देने के बावजूद चिकित्सक अपनी मर्जी के जिलों में ही काम करना चाहते हैं।

टीकाकरण अभियान सफल

कांग्रेस के सदस्य आर. प्रसन्नकुमार के सवाल के जवाब में मंत्री ने कहा कि बच्चों में जानलेवा खसरा तथा रुबेला की रोकथाम के लिए राज्यव्यापी टीकाकरण अभियान को लेकर कई भ्रांतिया फैलाई जा रही है।

इसके बावजूद इस अभियान को बेहद सफलता मिली है। अगर राज्य के कुछ जिलों में बच्चों का टीकाकरण का कार्य शेष है, तो इसकी समयसीमा बढ़ाई जाएगी। वर्ष 2015-16 के पहले चरण में अभियान के तहत 10, 70,771 तथा वर्ष 2016-17 के दूसरे चरण में अभी तक 9 लाख 62 हजार 800 बच्चों का टीकाकरण किया गया है। इन बीमारियों से राज्य में वर्ष 2014 में 13 तथा वर्ष 2016 में 3 बालकों की मौत हुई है।

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं,भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Hot News

छोटी छोटी यह बचतें भी आपको कर देंगी मालामाल छोटी छोटी यह बचतें भी आपको कर देंगी मालामाल
भारत में Pokemon Go खेलना चाहते हैं, इन तीन Clicks में होगा इंस्टॉल भारत में Pokemon Go खेलना चाहते हैं, इन तीन Clicks में होगा इंस्टॉल
सपना व्यास पटेल: वायरल फोटो से फेमस हो गई थी ये फिटनेस ट्रेनर सपना व्यास पटेल: वायरल फोटो से फेमस हो गई थी ये फिटनेस ट्रेनर
सात वचन: अरेंज्ड मैरिज में लड़के गलती से भी न पूछें लड़की से ये सात सवाल सात वचन: अरेंज्ड मैरिज में लड़के गलती से भी न पूछें लड़की से ये सात सवाल
जिंदगी भर सिर्फ 3 साडिय़ों में रहने वाली मदर टेरेसा को इन चमत्कारों ने बना दिया संत जिंदगी भर सिर्फ 3 साडिय़ों में रहने वाली मदर टेरेसा को इन चमत्कारों ने बना दिया संत

More From Bangalore

हर वार्ड में बनेंगे खाद खरीदी केंद्र हर वार्ड में बनेंगे खाद खरीदी केंद्र

कोरम का अभाव, मंत्री नदारद कोरम का अभाव, मंत्री नदारद

मई से बंद हो सकते हैं बिजली कटौती के झटके मई से बंद हो सकते हैं बिजली कटौती के झटके

बीईएमएल बनाएगी नम्मा मेट्रो के 150 कोच बीईएमएल बनाएगी नम्मा मेट्रो के 150 कोच

सफाई कर्मचारियों को बासी भोजन सफाई कर्मचारियों को बासी भोजन

पूर्व सांसद एम. शिवण्णा भाजपा में शामिल पूर्व सांसद एम. शिवण्णा भाजपा में शामिल

शिक्षण संस्थाओं में यौन अपराधों के खिलाफ कड़ा कानून शिक्षण संस्थाओं में यौन अपराधों के खिलाफ कड़ा कानून

पत्रिका एंड्राइड और आई फ़ोन एप डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

X