> > > >Closure of the department making the pure water supply challenge

क्लोजर में शुद्ध जलापूर्ति बना विभाग की चुनौती

2016-04-28 05:11:28


क्लोजर में शुद्ध जलापूर्ति बना विभाग की चुनौती
जोधपुर।क्लोजर के दौरान शहर में शुद्ध पानी की सप्लाई करना जलदाय विभाग के लिए चुनौती बन रहा है। बुधवार को कई क्षेत्रों में दूषित पानी आया तो कई जगह लगातार पानी की किल्लत के चलते लोगों को टैंकर डलवाने पड़ रहे हैं।

इन दिनों इन्दिरा गांधी नहर की सफाई के लिए सात मई तक क्लोजर लिया गया है। इसलिए नहरबंदी होने से जलदाय विभाग के लिए पानी का प्रबंधन करना भारी पड़ रहा है जबकि दावे यह किए जा रहे हैं कि पानी की कोई कमी नहीं है।

बिड़ला स्कूल स्थित वैष्णव नगर ब सेक्टर में कई दिनों से पानी नहीं आ रहा है। मौहल्लेवासी एक पखवाड़े से पानी के टैंकर मंगवा रहे हैं। इस बारे में अधिकारियों को स्थानीय लोगों ने कई बार बताया लेकिन समाधान नहीं हुआ। टैंकर वाले भी मनमर्जी से कमा रहे हैं। इसके अलावा पाल लिंक रोड, चौपासनी हाउसिंग बोर्ड सेक्टर दो, मण्डोर क्षेत्र में इन दिनों बदबूदार पानी आ रहा है। जिसे पीना तो दूर लोग अघरेलू कार्यों में भी उपयोग नहीं ले सकते।

समाधान बन रहा है समस्या

सूत्रों ने बताया कि जलदाय विभाग की दूर से पानी को शुद्ध करने के लिए क्लोरीन मिलाई जाती है लेकिन जिन क्षेत्रों में दूषित पानी की समस्या आ रही है, उनमें विभाग की ओर से ज्यादा क्लोरीन मिलाने से पानी में अजीब तरीके की गंध आने लगी है। पिछले दिनों गंदे पानी की सप्लाई के मामले में विभाग के कार्यवाहक अधीक्षण अभियंता नगर वृत्त उमर फारूख ने शहर के तीनों खंड के अधिशासी अभिंयता और सभी सब डिवीजन के सहायक अभियंता की बैठक लेकर उन्हें गंदे पानी और लीकेज की शिकायत को प्राथमिकता से हल करने के निर्देश दिए। उन्होंने शहर के सभी सब डिवीजन के सहायक अभिंयताओं से रिपोर्ट ली।

फारुख ने तीनों एक्सईएन को सब डिवीजनों से रोजाना रिपोर्ट लेने के निर्देश दिए। इसके बाद भी ज्यादा सुधार नहीं हुआ और लोगों को दूषित पानी पीना पड़ रहा है।

LIVE CRICKET SCORE

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मॅट्रिमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !

पत्रिका एंड्राइड और आई फ़ोन एप डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

X