> > > >23 years of absconding accused in jail

23 वर्ष से फरार चोरी का आरोपी जेल के सीखचों में

2017-03-17 10:47:10


23 वर्ष से फरार चोरी का आरोपी जेल के सीखचों में <br>
होशंगाबाद. वर्ष 1994 में होशंगाबाद रेलवे स्टेशन से पार्सल चोरी कर फरार हुए सिंधी कॉलोनी ग्वालटोली निवासी आरोपी राकू सिंधी उर्फ राकेश पिता घनश्यामदास (42) को आरपीएफ पुलिस ने 23 वर्ष बाद उसके घर से गिरफ्तार कर भोपाल की कोर्ट में पेश किया। जहां से उसे केंद्रीय जेल भेज दिया गया। आरोपी जयपुर राजस्थान में होटलों में काम कर फरारी काटता रहा। आरोपी के खिलाफ कोर्ट से स्थाई वारंट जारी हुआ था। चोरी-छुपे वह होशंगाबाद अपने घर भी आता-जाता रहता था, लेकिन आरपीएफ उसे नहीं पकड़ सकी थी।

ऐसे खुला फरारी का राज
स्थाई वारंट की तामीली के संबंध में आरपीएफ जवान राकू सिंधी उर्फ राकेश के घर जब भी जाती थी, वह नहीं मिलता था। जब घर वालों से आरपीएफ टीम ने पूछा कि इतने वर्षों से राकू घर नहीं आया तो उसकी गुमशुदगी की रिपोर्ट क्यों नहीं लिखाई। घर वाले कोई भी संतोषजनक जबाव नहीं दे पाए, जिससे शक गहरा गया। घरवाले लगातार गुमराह करते रहे। आरपीएफ टीम ने राकू के सिंधी कॉलोनी ग्वालटोली के घर के आसपास मुखबिर लगाए। जैसे ही वह होली पर घर आया तो आरपीएफ टीम ने मुखबिर की सूचना पर उसे दबोच लिया। आरोपी को गिरफ्तार करने में आरपीएफ होशंगाबाद की टीम में शामिल एएसआई सुरेंद्र यादव, प्रधान आरक्षक फौजदार यादव, आरक्षक जितेंद्र वर्मा, प्रेमकिशन रजक, अमोल भाटे की सक्रिय भूमिका रही।

जयपुर में होटलों में काटी फरारी
आरपीएफ सब इंस्पेक्टर आरपी यादव ने बताया कि आरोपी राकू सिंधी उर्फ राकेश ने यहां से भागकर राजस्थान के जयपुर में 23 वर्ष तक फरारी काटी। इस दौरान वह होटलों में काम करता रहा। वहां की पुलिस को भी उस पर कोई शक नहीं हुआ।
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मॅट्रिमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !

Related News

पशु पालन विभाग अन्य विभागों में अव्वल, कमिश्नर ने थपथपाई पीठ 

Video Icon दो साल पहले किया था रेप, मुकदमा वापस न लेने पर अब फोड़ दी आंखें!

Video Icon 15 दिनों में दो महिलाओं की हत्या, महिला मोर्चे ने किया पुलिस का घेराव

होली के दिन लापता युवक की हत्या, खेत में क्षत-विक्षत मिला शव

 नगर सरकार चुनने शुरू हुई प्रक्रिया

सरकारी कार्यालय में सुविधा ऐसी की आईएसओ ने दे दिया सर्टिफिकेट

LIVE CRICKET SCORE

पत्रिका एंड्राइड और आई फ़ोन एप डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

X