> > > Pakistani bowler Abdul Qadirs big statement, said- If Akram, Inzamam was given hanging, then there is no spot fixing

पाकिस्तानी गेंदबाज अब्दुल कादिर का बड़ा बयान, कहा- अगर अकरम, इंजमाम को दी गई होती फांसी तो नहीं होती स्‍पॉट फिक्सिंग

2017-03-20 08:34:47


पाकिस्तानी गेंदबाज अब्दुल कादिर का बड़ा बयान, कहा- अगर अकरम, इंजमाम को दी गई होती फांसी तो नहीं होती स्‍पॉट फिक्सिंग
नई दिल्‍ली। पाकिस्‍तान के पूर्व दिग्‍गज लेग स्पिनर अब्‍दुल कादिर ने स्पॉट फिक्सिंग मामले में रविवार को एक बड़ा बयान देकर देकर पाकिस्तान क्रिकेट में सनसनी मचा दी है। कादिर ने कहा कि अगर वसीम अकरम, इंजमाम-उल-हक और मुश्‍ताक अहमद जैसे खिलाड़ियों को जो मैच फिक्सिंग में लिप्‍त थे, समय रहते ही फांसी दे दी जाती तो पाकिस्‍तान में स्‍पॉट फिक्सिंग का खतरा होता ही नहीं।

कादिर ने दावा किया कि अकरम, इंजमाम और मुश्‍ताक ज्‍यादा बड़े दोषी हैं। अगर उस वक्‍त उन्‍हें सबक सिखा दिया जाता तो आज जो हो रहा है वह शायद नहीं होता। कादिर ने कड़ा रुख करते हुए कहा कि मैच फिक्सिंग मामले पर आई जस्टिस मलिक मुहम्मद खय्याम की रिपोर्ट को अब तक क्यों नहीं लागू किया गया।

उल्लेखनीय है कि पाकिस्तान सुपर लीग के दौरान सामने आया स्पॉट फिक्सिंग विवाद बढ़ता जा रहा है। दुबई और पाकिस्तान में खेली गई पीएसएल लीग में पाकिस्तान के खालिद लतीफ, शारजील खान, मोहम्मद इरफान, नासिर जमशेद और शाहजैब हसन समेत पांच खिलाड़ियों को संदेह के घेरे में निलंबित किया जा चुका है। 1990 में भी पाकिस्तान में फिक्सिंग में कुछ खिलाड़ियों को पकड़ा गया था। इसके बाद मामले की जांच के लिए जस्टिस मलिक मोहम्मद खय्याम की अध्यक्षता में एक जांच समिति बिठाई गई थी।

2000 में खय्याम ने अता-उर-रहमान और सलीम मलिक को आजीवन प्रतिबंधित करने की सिफारिश की थी। हालांकि कुछ समय बाद दोनों की वापसी हो गई थी। रहमान की गवाही गलत साबित होने पर वसीम अकरम पर कोई कार्रवाई नहीं हुई। इसके बाद जांच समिति ने आगे वकार, इंजमाम और मुश्ताक सहित पांच खिलाड़ियों पर जुर्माना लगाने की सलाह दी थी लेकिन पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने सिर्फ मलिक और रहमान पर ही कार्रवाई की। 2006 में जस्टिस खय्याम ने कहा था कि अकरम की शानदार गेंदबाजी प्रदर्शन के कारण उनकी रिपोर्ट को प्रभावित किया गया है।

उधर फिक्सिंग मामले में कई पूर्व क्रिकेटरों ने भी अपनी अपनी प्रतिक्रिया दी है। दिग्गज बल्लेबाज शाहिद अफरीदी और मोहम्मद हफीज ने पीसीबी से मांग की है कि इस मामले की गहरी जांच होनी चाहिए और दोषी खिलाड़ियों पर कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए। अफरीदी ने कहा कि हमने पहले के खिलाड़ियों को एक समय के बाद राहत देकर अच्छा नहीं किया। बता दें कि अफरीदी ने मैच फिक्सिंग के दोषी रहे मोहम्मद आमिर आदि की वापसी का भी विरोध किया था।

Related News

पीसीबी ने शर्जील और खालिद के खिलाफ आरोप तय किए

फिक्सिंग आरोपों के बाद नासिर जमशेद हुए निलंबित

फिक्सिंग में फंसे 5 पाक खिलाड़ी, पीसीबी ने शुरू की जांच

स्पॉट फिक्सिंग में फंसा PAK का क्रिकेटर, तुरंत मिली क्लीन चिट 

पाकिस्तान में खेलना सुरक्षित: इंजमाम

इंजमाम ने विराट पर टिप्पणी के लिए एंडरसन की आलोचना की

LIVE CRICKET SCORE

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मॅट्रिमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !

पत्रिका एंड्राइड और आई फ़ोन एप डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

X