> > > >BJPs hand in Tamil Nadus political development

तमिलनाडु के राजनीतिक घटनाक्रम में बीजेपी का हाथ

2017-04-20 00:03:19


तमिलनाडु के राजनीतिक घटनाक्रम में बीजेपी का हाथ
चेन्नई।विपक्षी पार्टियों के नेताओं का कहना है कि सत्ताधारी पार्टी एआईएडीएमके अम्मा के विधायकों को वीके शशिकला के खिलाफ एक साथ लामबंद करने में भारतीय जनता पार्टी का हाथ है। भाजपा के इशारे पर ही ओपीएस और ईपीएस दोनों गुटों के विधायक और मंत्री एक साथ आने के लिए राजी हुए हैं। भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के नेता मुत्तुअरसन ने पत्रकारों को बताया कि केंद्र सरकार और उसके मुखिया नरेंद्र मोदी एआईएडीएमके पर पूरी तरह नियंत्रण करना चाहते हैं इसलिए वे यहां के मंत्रियों पर दबाव बना रहे हैं। इसके लिए वे सत्ताधारी पार्टी के दोनों खेमों के बीच संदेह पैदा कर रहे हैं। तमिल मानिला कांग्रेस अध्यक्ष जीके वासन ने कहा मैं इस बात से बेहद खुश हूं कि एआईएडीएमके में जो फूट थी वह दूर होकर दोनों गुट एकजुट होकर काम करने को तैयार हो रहे हैं। मैं इसका स्वागत करता हूं।

टीएमसी नेता ने कहा शशिकला को पार्टी से बाहर का रास्ता दिखाना जरूरी है। राज्य की जनता को उन पर भरोसा नहीं है। वैसे यह उनकी पार्टी का अंदरूनी मामला है इसलिए इस पर ज्यादा बात करना ठीक नहीं है। टीवीके के अध्यक्ष वेलमुरुगन ने कहा तमिलनाडु में हुई राजनीतिक उठापटक के पीछे भारतीय जनता पार्टी का पूरा हाथ है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह एआईएडीएमके पर अपना नियंत्रण चाहते हैं।

सत्ताधारी मंत्रियों के बीच मेलजोल से भाजपा का कोई लेना-देना नहीं : तमिलइसै सौंदरराजन
चेन्नई. तमिलनाडु की राजनीति में अचानक आए बदलाव में भाजपा का हाथ होने की खबर का खंडन करते हुए भाजपा प्रदेशाध्यक्ष डा. तमिलइसै सौंदरराजन ने कहा कि राज्य की सत्ताधारी पार्टी एआईएडीएमके के दोनों खेमों के बीच जो भी घटनाक्रम चल रहा है उसके पीछे भाजपा का कोई लेना-देना नहीं है। इसके लिए भाजपा पर आरोप लगाना सरासर गलत है यह केवल झूठी अफवाह फैलाई जा रही है। उन्होंने कहा कुछ लोगों को अन्य दलों पर आरोप लगाने की पुरानी आदत है।

ऐसा न केवल तमिलनाडु की राजनीति में है बल्कि पूरे देश में ही है। कोई भी हमारी पार्टी पर यह आरोप कैसे लगा सकता है कि भाजपा सत्ताधारी पार्टी के मंत्रियों, विधायकों एवं वीके शशिकला के खिलाफ भड़का रही है। उन्होंने कहा वे दावे के साथ कह रही हैं कि एआईएडीएमके के दोनों खेमों के बीच चल रहे घटनाक्रम में भाजपा के किसी भी नेता का कोई रोल नहीं है। हमारा तो केवल इतना ही कहना है कि राज्य के मंत्रियों एवं सरकार को जनता के प्रति अपनी जिम्मेदारी समझते हुए प्रभावी ढंग से कार्य करना चाहिए। तमिलइसै ने कहा जयललिता की मृत्यु के बाद से सत्ताधारी पार्टी कई परेशानियों से जूझ रही है। वह जनता की आकांक्षाओं पर खरी नहीं उतर रही है।

ऐसे में इस पार्टी की भविष्य में सत्ता में वापसी की संभावना कम ही है। यहां बतादें कि कई विपक्षी पार्टियों के नेता जैसे भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी नेता आर मुत्तुअरसन, टीवीके अध्यक्ष वेलमुरुगन और एआईएडीएमके अम्मा ग्रुप के नाजिल सम्पत ने भाजपा पर आरोप लगाया है कि वह तमिलनाडु के मंत्रियों को ओपीएस खेमे से सुलह करने तथा वीके शशिकला को पार्टी से किनारे करने के लिए प्रोत्साहित कर रही है। यह सब भाजपा प्रदेशाध्यक्ष तमिलइसै सौंदरराजन की शह पर हो रहा है।
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मॅट्रिमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !

LIVE CRICKET SCORE

पत्रिका एंड्राइड और आई फ़ोन एप डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

X