> > > Sovereign gold bonds subscription to open on Monday

24 से 28 अप्रेल के बीच सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड स्कीम में फिर से निवेश का मौका

2017-04-21 19:34:46


24 से 28 अप्रेल के बीच सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड स्कीम में फिर से निवेश का मौका
नई दिल्ली. यदि आप सोने में निवेश करना चाहते हैं तो वित्त वर्ष 2017-18 का पहला सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड स्कीम 24 से 28 अप्रेल के बीच फिर से आ रहा है। आप इस स्कीम में निवेश कर इसका लाभ उठा सकते हैं। बॉन्ड में निवेश की इश्यू प्राइस सोने की न्यूनतम मार्केट वैल्यू से 50 रुपए कम होगी। बॉन्ड पेपर आवेदनकर्ताओं को 12 मई को जारी किए जाएंगे। अगर आप इस बार इस बॉन्ड में निवेश करना चाहते हैं तो हम इसमें निवेश से जुड़ी जानकारी दे रहे हैं। इस बॉन्ड की खरीदारी कैैश, चेक, डिमांड ड्राफ्ट या डिजिटल तरीके से की जा सकती है। हालांकि, नकदी से अधिकतम 20 हजार रुपए ही भुगतान किया जा सकता है।
2.50 फीसदी मिलेगा ब्याज
गोल्ड बॉन्ड में निवेश करने वालों को निवेश मूल्य पर 2.5 प्रतिशत सालाना ब्याज मिलेगा, जो उन्हें छह महीने पर मिलेगा। इसे ऐसे समझें कि प्रारंभिक निवेश की राशि पर प्रतिवर्ष 2.5 प्रतिशत (फिक्स्ड दर) के अनुसार, बॉन्ड पर ब्याज का भार होता है। ब्याज निवेशक के बैंक खाते में छमाही जमा किया जाएगा और अंतिम ब्याज मूलधन के साथ परिपक्वता पर देय होगा।
8 साल के लिए निवेश
बॉन्‍ड के लिए अवधि 8 साल होगी, जिसमें इंटरेस्ट पेमेंट की तारीख पर 5 साल में निकालने का भी विकल्प होगा। गोल्ड बॉन्‍ड पर होने वाली आय कर योग्य है, लेकिन कुछ मामलों में कैपिटल गेन टैक्स से छूट भी दी गई है। इस बॉन्‍ड को एचयूएफ, ट्रस्ट, यूनिवर्सिटीज और चैरिटेबल इंस्टीट्यूशंस सहित भारतीय इकाइयां खरीद सकती हैं। इस बॉन्ड में किया हुआ निवेश टैक्समुक्त नहीं है। इनकम टैक्स एक्स, 1961 के तहत इस पर कर लगता है। हालांकि एसजीबी प्रतिदान के वक्त इससे होने वाली पूंजीगत आय पर लगने वाले टैक्स से इंडिविजुएल को छूट दी गई है।
1 ग्राम से 500 ग्राम तक निवेश
इसमें आपको कम से कम 1 ग्राम सोने की खरीदारी से शुरुआत करनी होगी और अधिकतम आप 500 ग्राम तक सोना खरीद सकते हैं। जानकारी के लिए बता दें कि अपने परिवार के सदस्यों में से प्रत्येक के नाम पर 500 ग्राम की खरीद कर सकते हैं। बॉन्ड की बिक्री बैंक, स्टॉक होल्डिंग कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया लि., मनोनीत डाकघरों और मान्यता प्राप्त शेयर बाजारों एनएसई और बीएसई के जरिए कर सकते हैं।
भारत के निवासी ही पात्र
विदेशी मुद्रा प्रबंधन अधिनियम 1999 के तहत परिभाषित भारत में निवास कर रहे शख्स ही एसजीबी में निवेश करने के लिए पात्रता रखते हैं। एचयूएफ, ट्रस्ट, यूनिवर्सिटीज़, धर्मार्थ संस्थाएं आदि निवेश कर सकते हैं।

LIVE CRICKET SCORE

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मॅट्रिमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !

पत्रिका एंड्राइड और आई फ़ोन एप डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

X