> > > >Tupurahalla water will be filled in nine ponds of the district

जिले के नौ तालाबों में भरा जाएगा तुप्परीहल्ला का पानी

2017-03-20 22:13:47


जिले के नौ तालाबों में भरा जाएगा तुप्परीहल्ला का पानी
धारवाड़।व्यर्थ बहते पानी का सदुपयोग करने की योजना को क्रियान्वित करने का सरकार ने फैसला लिया है। मुख्यमंत्री सिद्धरामय्या ने 16 मार्च को पेश किए 2017-18 के आम बजट में धारवाड़ तालुक के तुप्परी हल्ला के पानी को पांच ग्राम पंचायतों के नौ तालाबों में भर कर पानी का सदुपयोग करने की महत्वाकांक्षी कार्य का आगाज किया है। बेण्णहल्ला नाला का उपनाला तुपरीहल्ला नाला के जरिए हर वर्ष बारिश के मौसम में अपार मात्रा में पानी व्यर्थ बहता है इसे जानकर स्थानीय विधायक व खान एवं भूविज्ञान तथा जिला प्रभारी मंत्री विनय कुलकर्णी ने अच्छी बारिश वाले क्षेत्र में बहने वाले नाले के पानी का सदुपयोग करने की दिशा में विचार किया।
विशेषज्ञों तथा वृहद सिंचाई विभाग के अभियंताओं के जरिए विस्तृत योजना रिपोर्ट तैयार कर सरकारी स्तर पर योजना के महत्व को अवगत कराकर बजट में अनुदान आरक्षित करने के कार्य में सफलता प्राप्त की है। तुप्परीहल्ला के जरिए तडकोड, नीरलकट्टी तथा बोक्यापुर में एक एक तालाब के साथ पुराने तेगूर, बोगूर तथा गरग गांव में दो-दो तालाब समेत कुल नौ तालाबों में बारिश के मौसम में 8 2 एमसीएफटी पानी भराई की यह महत्वाकांक्षी योजना है। मुख्यमंत्री ने इस कार्य के क्रियान्वयन के लिए 2017-18 के बजट में अनुदान की घोषणा की है। योजना के लिए खर्च होने वाली 22.5 करोड़ की राशि को मंजूरी दी है। इस भाग के कृषि के सिंचाई सुविधा उपलब्ध करना, पेयजल उपलब्ध करना तथा अंतरजल स्तर को विकसित करना ही इस योजना का उद्देश्य है।

तडकोड, बोक्यापुर, बोगूर, पुराने तेगूर तथा नीरलकट्टी गांव स्थित तालाबों को जलानयन क्षेत्र कम होने के कारण हर वर्ष यह तालाब भर्ती नहीं होते हैं। बोगूर तथा पुराने तेगूर बैरेज से पानी लिफ्ट कर लिफ्ट सिंचाई के जरिए तालाबों को भरा जाएगा। इन गांवों के बैरेजों के पास जॉकवेल निर्माण कर पानी को सब मर्जड सेंट्रिफ्यूगल पंप के जरिए विफ्ट किया जाएगा। फिलहाल इन तालाबों तथा तुप्परी हल्ली में संग्रह गाद को निकालकर मेंड को मजबूत करने का कार्य भी इसमें शामिल है।
सिंचाई क्षेत्र में धन निवेश करने के साथ कृषि क्षेत्र में विकास हासिल कर सकते हैं इस बात को जानकर सरकार ने धारवाड़ जिले के तुप्परीहल्ला के जरिए पांच गांवों के नौ तालाबों में पानी भराई की योजना का आगाज किया है। ग्रामीण क्षेत्र की जनता का आत्मविश्वास बढ़ाया है। प्राकृतिक संतुलन प्रबंधन के लिए ऐसी योजनाएं मददगार होंगी।

22.5 करोड़ रुपए मंजूर

खान एवं भूविज्ञान तथा जिला प्रभारी मंत्री विनय कुलकर्णी ने कहा कि धारवाड़ तालुक के पांच गांवों में स्थित नौ तालाबों को तुप्परीहल्ला के पानी को भरने की योजना पर मुख्यमंत्री बजट में प्रावधान किया है जो खुशी की बात है। फिलहाल योजना के लिए 22.5 करोड़ रुपए उपलब्ध हुए हैं। आकलन के हिसाब से 28 करोड़ रुपए की जरूरत है। बकाया राशि को चरणों में प्राप्त किया जाएगा। आगामी दिनों में हंगरकी, दुब्बनमरडी गांवों समेत तालाबों वाले गांवों के क्षेत्र की लगभग दस हजार एकड़ जमीन को सूक्ष्म सिंचाई सुविधा उपलब्ध करने का लक्ष्य है।
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मॅट्रिमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !

LIVE CRICKET SCORE

पत्रिका एंड्राइड और आई फ़ोन एप डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

X