> > Mother Teresa declared a saint by Pope Francis

जिंदगी भर सिर्फ 3 साडिय़ों में रहने वाली मदर टेरेसा को इन चमत्कारों ने बना दिया संत

2016-09-04 20:12:03

कम से कम दो चमत्कार करना जरूरी है संत का दर्जा पाने के लिए


कम से कम दो चमत्कार करना जरूरी है संत का दर्जा पाने के लिए

फोटो- मदर टेरेसा की पुरानी तस्वीर।

भारत रत्न मदर टेरेसा को रविवार को वेटिकन सिटी में एक समारोह के दौरान रोमन कैथोलिक चर्च के पोप उन्हें संत की उपाधि दी। इस समारोह में दुनियाभर से आए मदर के एक लाख अनुयायी भी हुए। इस समारोह में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के नेतृत्व में केंद्र सरकार का एक 12 सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल, दिल्ली से मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व में और बंगाल से मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के नेतृत्व में राज्य स्तरीय दल भी इस कार्यक्रम में शरीक होंगे।
मदर टेरेसा के पास जिंदगीभर सिर्फ 3 साडिय़ां ही रहीं। जो वो खुद ही धोती थीं। वे कहा करती थी कि दुनिया में हजारों लाखों लोग ऐसे हैं जिनके पास तन ढकने के लिए भी कपड़े नहीं हैं। जितने कम कपड़ों से काम चल जाए वो बेहतर क्योंकि ये भी मानवता की सेवा ही है। 1997 में मदर टेरेसा का निधन हो गया था, लेकिन मदर टेरेसा के नाम से दो बीमारियों के चमत्कारिक ढंग से ठीक होने के बाद वेटिकन ने उन्हें संत बनाने का रास्ता साफ कर दिया था। बता दें कि संत का दर्जा पाने के लिए कम से कम दो चमत्कार करना जरूरी है।
आगे की स्लाइड में जानिए मदर टेरेसा से जुड़े किन दो चमत्कारों ने उन्हें दिलाई संत की उपाधि
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मॅट्रिमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !

पत्रिका एंड्राइड और आई फ़ोन एप डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें।

X